आयरलैंड टीम के आलराउंडर खिलाड़ी मैक्स सोरेसन ने अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास लेने की घोषणा कर दी हैं. मैक्स एक बेहतरीन आलराउंडर खिलाड़ी थे, जो कि टीम के लिए एक मैच विनर की भूमिका को निभाते थे. सोरेसन ने 31 साल की उम्र में अपने अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने का निर्णय लिया. दक्षिण अफ्रीका के जोहान्सबर्ग में जन्मे मैक्स सोरेसन एक दाहिने हाथ के तेज गेंदबाज थे जिन्होंने आयरलैंड के लिए 13 वनडे और 26 टी20 मैच खेले हैं, वो भी 2012 से 2016 के बीच में यानि मैक्स सोरेसन का अन्तर्राष्ट्रीय करियर लगभग 4 साल का ही रहा.

2015 के वर्ल्डकप में लिया था हिस्सा

photo credit : Getty images

मैक्स सोरेसन ने आयरलैंड टीम के लिए 2015 में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में हुए वर्ल्डकप के दौरान टीम के साथ थे =, जिसमे इस आलराउंडर खिलाड़ी ने अपने प्रदर्शन से सभी को काफी प्रभावित किया था. मैक्स को 2015 के वर्ल्डकप में टीम में तब जगह दी गयी थी जब टीम में शामिल टीम मुरटेग चोटिल हो गए थे. मैक्स सोरेसन ने वनडे में 16 और टी20 में 26 विकेट अपने नाम किये हैं. मैक्स 2014 और 2016 में हुए टी20 वर्ल्डकप में भी आयरलैंड टीम का हिस्सा थे, जो कि बांग्लादेश और भारत में खेले गए थे.

मैं सभी का आभारी हूँ

photo credit : Getty images

मैक्स सोरेसन ने अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद कहा कि ” मैं सभी का धन्यवाद देना चाहता हूँ, जिसमे खासकरके आयरलैंड क्रिकेट का जिन्होंने मुझे अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेलने का अवसर प्रदान किया और मुझे उससे जो भी अनुभव मिला वो मैं बयाँ नहीं कर सकता हूँ ये मेरे लिए एक अद्भुत सफर था, जिसे मैं कभी भी शब्दों में नहीं बता सकता हूँ. मैं अपने करियर के जिस पड़ाव में था, उसको समझकर ही मैंने अपने सन्यास का निर्णय लिया हैं. मैंने महसूस किया कि मुझे अपने जीवन के साथ आगे बढ़ जाना चाहिए क्योकि मुझे काफी इंजरी हो गयी थी जिसके बाद मेरे लिए वापस अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेलना काफी कठिन हो गया था, मैं उन सभी लोगों का धन्यवाद करना चाहूँगा, जिन्होंने मुझे मेरे करियर के दौरान हर समय अपना समर्थन दिया.”

कोच ने दिया धन्यवाद

photo credit : Getty images

आयरलैंड टीम के कोच जॉन ब्रसवेल जिन्होंने हाल में ही अपने पद से इस्तीफा दिया हैं, उन्होंने मैक्स सोरेसन के इस निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि ” मैं पूरी टीम की तरफ से मैक्स को धन्यवाद कहना चाहूँगा, उन्होंने आयरलैंड क्रिकेट को एक नयीं ऊँचाई देने में अपना अहम योगदान दिया हैं. मैक्स एक मेहनती खिलाड़ी थे और उन्होंने हमेशा अपना 100 प्रतिशत देने की कोशिश की हैं. उनके अंदर क्रिकेट खेलने का एक अलग ही जूनून तो जो कि उनके खेल में भी दिखता था. मैक्स युवा खिलाड़ियों के लिए एक आदर्श के रूप में देखे जायेंगे, मैक्स हमेशा ड्रेसिंग रूम में एक चर्चित खिलाड़ी रहे हैं. मैं उनके आने वाले भविष्य के लिए शुभकामनायें देता हूँ.”

PHOTO CREDIT : GETTY IMAGES