Dinesh Karthik
Dinesh Karthik

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज मैथ्यू हेडन ने भारतीय बल्लेबाज दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) को लेकर बड़ी प्रतिक्रिया दी है. कार्तिक आईपीएल में कुछ शानदार पारियों के दम पर टीम इंडिया में वापसी की है. जिन्हें फिनिशर के तौर पर भारतीय में मौका दिया जा रहा है. लेकिन मैथ्यू हेडन ने उनके रोल को लेकर ना खुश नजर आ रहे हैं. जिस पर सवाल उन्होंने बड़े सवाल खड़े किए हैं.

मैथ्यू हेडन ने Dinesh Karthik के रोल पर उठाए सवाल

Matthew Hayden
Matthew Hayden

दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) ने IPL के 15वें सीजन में RCB के लिए नाबाद  रहते हुए कई मैच जिताए थे. जिनकी तारीफ किए बिना आरसीबी के पूर्व कप्तान विराट कोहली भी नहीं रह पाए थे. लेकिन उनकी जगह टीम में बन नहीं पा रही है. भारत के पास काफी लंबा बैटिंग लाइनअप है. जिसकी वजह से उनकी कई मैचों में बैटिंग ही नहीं आ पाती है. वहीं ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टी20 मैच में कार्तिक से पहले अक्षर पटेल को भेज दिया था. जिस पर ऑस्ट्रेलिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज मैथ्यू हेडन (Matthew Hayden) ने सवाल उठाते हुए कहा,

“मैं बस दिनेश की भूमिका के बारे में सोच रहा था. देखिए, मैं ये आभास नहीं देना चाहता कि मैं दिनेश कार्तिक की बेज्जती कर रहा हूं, लेकिन उन्हें अधिक बल्लेबाजी करनी चाहिए लेकिन वो इसके विपरीत रहा है. मुझे लगता है कि वो इतने अच्छे खिलाड़ी हैं कि वो ऊपर आ सकते हैं और ठीक वैसे ही शॉट खेल सकते हैं. मैं उस भूमिका पर सवाल उठाता हूं जो वो एक फिनिशर के रूप में निभा रहे हैं.”

‘कार्तिक को ऊपर भेजा जाना चाहिए’

Dinesh Karthik
Dinesh Karthik

दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) ने एशिया कप 2022 में 4 मैचों की 3 पारियों में 25 की औसत से 50 रन बनाए थे. जबकि दिनेश कार्तिक दिन पारियों में पाकिस्तान के खिलाफ नाबाद 1 रन ही बना पाए थे. साथ ही ऑस्ट्रलिया के खिलाफ खेले गए पहले टी20 मैच में सातवें नबंर पर बल्लेबाजी करने के लिए भेजा गया. जहां वो 6 गेंदों में 5 रन बनाकर सस्ते में आउट हो गए. अगर उन्हें तोड़ा ऊपर भेजा जाए तो उनको अधिक बैटिंग करने को मिल सकता है. जिस पर हेडन के साथ साथ अजीत अगरकर ने कहा,

“मुझे दिनेश कार्तिक के संबंध में ये बहुत अजीब लगता है. वो काफी अच्छा बल्लेबाज है। लेकिन उसे 16वें ओवर के बाद रखा जाता है और अक्षर पटेल को उनसे ऊपर भेजा जाता है, अगर कार्तिक पंत से पहले खेल रहे हैं तो कम से कम उन्हें ऊपर भेजा जाना चाहिए.”