photo 2021 09 10 15 26 07

भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही 5 मैचों की टेस्ट सीरीज के आखिरी यानी Manchester Test को कोरोना के चलते रद्द कर दिया गया। असल में गुरुवार को जूनियर फिजियो की कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद भारतीय खिलाड़ियों ने कोविड-19 के डर से मैनचेस्टर टेस्ट खेलने से इनकार कर दिया था और मैच को रद्द कर दिया गया। अब पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर इंजमाम उल हक ने बिना सपोर्ट स्टाफ के मैदान पर दिखाए गए प्रदर्शन के लिए टीम इंडिया की तारीफ की है।

बिना सपोर्ट स्टाफ खेलने के लिए करनी होगी भारत की तारीफ

Manchester Test

ओवल टेस्ट मैच के दौरान रवि शास्त्री की कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। उनके साथ ही भरत अरुण, आर श्रीधर व फिजियो नितिन पटेल को भी 10 दिनों के लिए क्वारेंटीन कर दिया गया था। उसके बावजूद टीम इंडिया मैदान पर उतरी और 157 रनों से बड़ी जीत दर्ज की। हालांकि इसके बाद कोरोना के ही चलते Manchester Test को रद्द कर दिया गया। मगर अब पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर इंजमाम उल हक ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा,

‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि भारत और इंग्लैंड के बीच पांचवां टेस्ट कोविड के कारण नहीं हो सका। यह एक शानदार सीरीज रही लेकिन भारत की तारीफ करनी होगी क्योंकि चौथे टेस्ट के बीच में ही रवि शास्त्री कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए। टीम इंडिया ने चौथा टेस्ट अपने कोच और सपोर्ट स्टाफ के बिना खेला लेकिन उन्होंने मैदान पर दृढ़ संकल्प दिखाया।’

फिजियो व ट्रेनर होते हैं महत्वपूर्ण

Manchester Test

Manchester Test के रद्द होने के बाद लगातार भारतीय टीम पर उंगली उठाई जा रही है। लेकिन इस बीच इंजमाम ने भारत का पक्ष लिया और उन्होंने समझाया कि टेस्ट मैच में दिन का खेल खत्म होने के बाद फिजियो का काम शुरु हो जाता है। उन्होंने कहा,

‘सपोर्ट स्टाफ के बिना खेलना बहुत मुश्किल है। जब आप चोटिल होते हैं या किसी परेशानी का सामना कर रहे होते हैं, तो आपको ठीक होने और मैच-फिट बनाने में मदद करने के लिए एक ट्रेनर या फिजियो की बेहद जरूरत होती है। लोग सोच रहे होंगे कि भारत अपने सभी खिलाड़ियों के फिट होने के बावजूद क्यों पीछे हटा। फिजियो और ट्रेनर बहुत महत्वपूर्ण हैं। टेस्ट मैच में एक दिन का खेल खत्म होने के बाद फिजियो का काम शुरू होता है।’