Mahmudullah

ICC T20 World cup 2021 में मह्मदुल्लाह (Mahmudullah) की कप्तानी में खेल रही बांग्लादेश का निराशाजनक प्रदर्शन जारी रहा। गुरूवार को खेले गए टूर्नामेंट के 34वे (AUS vs BAN) मुकाबलें में बांग्लादेश को ऑस्ट्रेलिया के हाथों 8 विकेट की एक शर्मनाक हार झेलनी पड़ी। पहले ही अपने पिछले चारों मुकाबलें हार कर सेमीफाइनल की रेस से बाहर हो चुकी बांग्लादेश का खराब प्रदर्शन अपने आखिरी मैच में भी जारी रहा। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करने उतरी बांग्लादेश की पूरी टीम केवल 73 रनों पर ही सिमट गयी जिसे ऑस्ट्रेलिया ने 6.2 ओवर में 2 विकेट खोकर पूरा कर लिया।

जम्पा के पंजे में फंसी बांग्लादेश

Mahmudullah

अपने पहले चारो मुकाबलें हार चुकी बांग्लादेश से अपने अंतिम मुकाबलें में एक अच्छी प्रदर्शन की उम्मीद थी। लेकिन बांग्लादेश की टीम इसके लिए बिलकुल तैयार नहीं था। ऑस्ट्रेलिया के साथ खेले गए अपने आखिरी लीग मुकाबलें में टॉस हार कर पहले बल्लेबाजी करने उतरी बांग्लादेश की पूरी टीम 15 ओवर में ही केवल 73 रनों पर ही सिमट गयी। टीम के तरफ से केवल तीन बल्लेबाज ही दहाई का आंकड़ा छु पाए। जिसमे सबसे स्कोर शमीम होस्सें (Shamim Hossain) का 19 रन रहा। कप्तान महमुदुल्लाह (Mahmudullah) ने 16 रन बनाए।

ऑस्ट्रेलिया के लिए एडम जम्पा (Adam Zampa) ने शानदार गेंदबाजी करते हुए अपने 4 ओवर के कोटे में केवल 19 रन खर्च करके 5 विकेट हासिल किये। जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने कप्तान फिंच (Aaron Finch) के ताबड़तोड़ 20 गेंदों पर 40 रन के बदुलत इस छोटे से लक्ष्य को 6.2 ओवर में पूरा कर लिया। मिचेल मार्श (Mitchel Marsh) ने 5 गेंदों पर 16 रन बनाए। इस जीत के साह ऑस्ट्रेलिया ने पॉइंट्स टेबल में साउथ अफ्रीका को पछाड़ते हुए दुसरे स्थान पर कब्ज़ा कर लिया है।

मेरे पास ज्यादा कुछ कहने के लिए नहीं है: Mahmudullah

Mahmudullah, bangladesh

super-12 राउंड में  में एक भी मैच न जीत पाने के बाद बांग्लादेश के कप्तान महमुदुल्लाह (Mahmudullah) काफी भावुक नजर आये। पोस्ट मैच प्रेजेंटेशन के दौरान उन्होंने निराश मन से कहा,

जब आप इस तरह का प्रदर्शन करते हैं तो आपके पास ज्यादा कुछ नहीं कह सकते। बल्लेबाज़ी एक ऐसा पक्ष है जहां हमें बहुत काम करना है। आज का पिच काफी बढ़िया था, यह शायद अब तक का सबसे बेहतरीन पिच था। पावरप्ले में लगातार विकेट गंवाना हमारे लिए सबसे बड़ा चिंता का विषय है। इस विश्व कप में आने से पहले हमने दो श्रृंखलाएं जीती थी लेकिन वह हमारे देश की पिच पर था, एक खिलाड़ी के तौर पर या एक टीम के तौर पर आपको विश्व के किसी भी पिच पर बढ़िया प्रदर्शन करने का प्रयास करना चाहिए