धोनी

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान व कैप्टन कूल के नाम से मशहूर महेंद्र सिंह धोनी खुद को बदला हुआ मानने लगे हैं. आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स को तीसरी बार चैंपियन बनवाने धोनी अब पहले की तरह नहीं रहे. उन्हें इस बात का एहसास खुद है जिसे उन्होंने साझा किया है. इंडियन प्रीमियर लीग में चेन्नई सुपरकिंग्स को चैम्पियन बनाने वाले 37 साल के इस दिग्गज ने कहा, “मुझे नहीं पता कि इससे क्रिकेटर के तौर पर मुझ में कोई बदलाव आया है कि नहीं, एक व्यक्ति के तौर पर जरूर बदलाव आया है क्योंकि बेटियां पिता के काफी करीब होती है.”

धोनी ने स्टार स्पोर्ट्स के एक कार्यक्रम में बातचीत के दौरान अपनी भावनाएं खुलकर जाहिर कीं. उन्होंने जीवा के बारे में खुलकर बात करते हुए कहा कि बेटियां अपने पिता के बेहद करीब होती हैं, हमारे साथ भी कुछ ऐसा ही है. पहले जीवा को मेरा नाम लेकर डराया जाता था लेकिन वह अब मेरे साथ पूरी तरह से घुल मिल गयी है. उसे मेरे साथ हंसना, खेलना और समय बिताना सब पसंद है. मुझे भी जीवा के साथ टाइम स्पेंट करने में बहुत मज़ा आता है.

‘जीवा को मेरानाम लेकर डराया जाता था’

उन्होंने कहा कि “मेरे मामले में समस्या तब हुई थी, जब जीवा का जन्म हुआ था और मैं वहां नहीं था (तीन साल पहले). मैं ज्यादा समय क्रिेकेट खेलता था और वह जब भी गलती करती तो उसे मेरा नाम लेकर डराया जाता था. धौनी ने कहा कि जीवा जब खाना नहीं खाती थी तो उसे कहा जाता था, पापा आ जायेंगे खाना खालो. वह कुछ गलती करती तो कहा जाता कि पापा आ जायेंगे ऐसा मत करो. इसलिए एक तरह से वह मुझे देखकर थोड़ा पीछे हट जाती थी.”

‘जीवा के लिए क्रिकेट मैदान लॉन की तरह है’
जीवा को इस साल आईपीएल के दौरान कई बार देखा गया. कई मैचों के बाद वह धौनी के साथ पुरस्कार समारोह का हिस्सा भी रहीं. धोनी ने कहा कि “मैंने उसके साथ शानदार समय बिताया. वह पूरे आईपीएल के दौरान वहां थी और वह हमेशा मैदान में जाना चाहती थी, जो उसके लिए लॉन की तरह था. टीम में बहुत सारे बच्चे थे. मुझे यह नहीं पता कि वह क्रिकेट को कितना समझ पाती है, लेकिन मुझे उसे किसी दिन मैच के बाद होने वाले पुरस्कार समारोह में ले जाना होगा और वह सभी सवालों का जवाब देगी.’

आईपीएल की दिनचर्या
धोनीधोनी ने इसके अलावा टूर्नामेंट के दौरान अपनी दिनचर्या के बारे में भी बात की. धोनी ने बताया कि वो दोपहर में तीन बजे तक सोया करते थे. उन्होंने कहा, ‘मैं 1.30, 2.30 या फिर 3 बजे तक दोपहर में उठता था. जीवा तब तक उठ चुकी होती थी क्योंकि वो 8.30 या 9 बजे ही उठ जाती है, ब्रेकफास्ट कर चुकी होती है और खेलने भी लगती है. ये हमें थोड़ी राहत देता है जब बच्चे आपस में खेल रहे होते हैं.’ महेंद्र सिंह धोनी के फैंस अब उन्हें इस महीने के अंत में मैदान पर देख सकेंगे जब दो मैचों की टी20 सीरीज में भारत का सामना आयरलैंड से होगा.

Anurag Singh

लिखने, पढ़ने, सिखने का कीड़ा. Journalist, Writer, Blogger,

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *