इंग्लैंड एंड वेल्स में खेले गए विश्व कप का सेमीफाइनल मुकाबला भारत के फैंस व खिलाड़ियों के लिए किसी बुरी याद जैसा बनकर रह गया है। न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलते हुए टीम इंडिया 18 रन से हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गई थी। अब टीम के स्टार स्पिनर युजवेंद्र चहल ने इंडिया टुडे माइंडरॉक्स-2019 के दौरान उस समय को याद करते हुए अपना एक्सपीरियंस शेयर किया।

माही भाई को आउट होते देख आंखों में आ गए थे आंसू

धोनी

विश्व कप में भारत ने लीग मैचों में बेहतरीन प्रदर्शन किया लेकिन नॉकआउट मुकाबले में न्यूजीलैंड के हाथों 18 रन से हारकर टीम को टूर्नामेंट से विदाई लेनी पड़ी। टीम का टॉप आर्डर बुरी तरह फ्लॉप हो गया और इसके बाद टीम की कमजोरी बन चुका मिडिल ऑर्डर एक्सपोज हो गया।

हालांकि रविंद्र जडेजा और धोनी ने शानदार पार्टनरशिप से भारत की जीत की उम्मीद जिंदा थी लेकिन पहले जडेजा फिर धोनी के रन आउट होते ही सभी की वह उम्मीदों पर पानी फिर गया। उस पल को याद करते हुए युजवेंद्र चहल ने कहा,

“जब न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में जब माही भाई को आउट होकर जाते हुए देखा तो वो काफी दुखद पल था। मेरी आंखों में आंसू थे। जो वर्ल्ड कप में हुआ उसे मैं भूलना चाहूंगा और टी-20 वर्ल्ड कप अगर भारत में आ जाए तो बहुत अच्छा होगा।”

युजवेंद्र चहल की कब होगी टीम में वापसी

युजवेंद्र चहल

युजवेंद्र चहल-कुलदीप यादव की जोड़ी ने टीम इंडिया के लिए हमेशा बीच के ओवरों में विकेट चटकाऊ गेंदबाजी की है। लेकिन विश्व कप के बाद मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने साफ कर दिया था कि वह अब युवा खिलाड़ियों को मौका दिया जाएगा। परिणामस्वरूप वेस्टइंडीज दौरे पर फिर साउथ अफ्रीका के खिलाफ टी 20 मैच में भी टीम की गेंदबाजी यूनिट में युवा खिलाड़ियों को जगह मिली थी।

हालांकि तीसरे टी 20 में जिस तरह अफ्रीकी बल्लेबाजों ने भारतीय गेंदबाजों की पिटाई की तब कई दिग्गजों ने यह कहा कि टीम में एक्सपीरियंस गेंदबाजों का होना बेहद जरूरी है। अब देखना दिलचस्प होगा कि चहल की टीम में वापसी कब होती है और वह टी 20 वर्ल्ड कप के लिए टीम मैनेजमेंट के दिमाग में हैं या नहीं।