2018 9large kuldeep dhoni
Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

महेंद्र सिंह धोनी को क्रिकेट में अपने शांत स्वभाव के लिए जाना जाता है, इसी शांत रूप में उन्होंने अपनी प्रतिष्ठा बनाई है. परिस्तिथि कैसी भी क्यों ना हो जाये कप्तान कूल अपना पारा नहीं खोते हैं, ऐसे कई मौकों पर उन्होंने दिखाया भी है. जिस समय उन्होंने भारतीय टीम की कप्तानी ली थी, उस समय भी उन्होंने अपनी शांति का सहयोग दिया.

हालाँकि कई ऐसे मौके भी आए जब, इस शांति की मूर्त को कोई चीज पसंद नहीं आई और उन्होंने अपना आपा खो दिया. और गुस्सा अपने साथी खिलाड़ियों पर निकाल दिया, उनका स्टंप-माइक उदाहरण सभी को पता हैं, कई बार, उन्हें अपने खिलाड़ियों को डांटते, गाली देते या कुछ सलाह देते हुए सुना गया है.

आज हम आपकों अपने इस ख़ास आर्टिकल में पांच ऐसे मौकों के बारे में ही बताने वाले हैं. जब एमएस धोनी को मैदान पर अपने साथी खिलाड़ियों पर गुस्सा करते हुए देखा गया था.

5. 2018 में मनीष पांडे पर महेंद्र सिंह धोनी ने निकाला गुस्सा

महेंद्र सिंह धोनी

2018 में दक्षिण अफ्रीका में तीन मैचों की टी20 सीरीज़ के दूसरे गेम में, एमएस धोनी और मनीष पांडे ने शानदार साझेदारी कर भारत को 90/4 से टीम को उबारने में  मदद की. दोनों बल्लेबाजों ने गेंद को अच्छी तरह से मारा और दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजों पर आक्रमण बल्लेबाजी की.

हालाँकि, पारी के अंतिम ओवर में धोनी ने अचानक अपना पारा खो दिया, जिसके कारण पांडे को गाली खानी पड़ी. 20 वें ओवर की पहली गेंद पर पांडे ने लेग साइड पर सिंगल गलत लिया हालाँकि, उस समय उनका ध्यान गेंद पर नही था, वो कही और देख रहे थे. यही कारण था जिसके चलते धोनी ने अपना पारा खो दिया और उनको अपशब्द कहने लगे.

फिलहाल इसके बाद धोनी ने अगली सभी गेंद पर छक्का जड़ा और उसके बाद की दो गेंद पर चौका जड़ कर अपना गुस्सा निकाला. पांडे को अपशब्द कहने के पीछे धोनी का यही कारण था कि वह अपना ध्यान मैदान पर रखे. इस पारी में दोनों ने मिल कर 98 रनों की साझेदारी की थी, इसमें धोनी ने 28 गेंदों पर 4 चौके और 3 छक्कों की मदद से 52 रन बनाए थे, लेकिन बाद में यह दूसरा टी20 मुकाबला भारत हार गया था.

Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *