IPL 2022

IPL 2022 का बिगुल कुछ ही दिनों में बजने वाला है। इसी कड़ी में आज यानी मंगलवार को आईपीएल गवर्निंग काउंसिल ने नई  फ्रेंचाइजी लखनऊ और अहमदाबाद को लेटर ऑफ इंटेंट (LOI) जारी करने का फैसला किया है। लिहाजा दुनिया की सबसे बड़ी टी20 लीग में दोनों टीमों को औपचारिक रूप से प्रवेश दिया मिल गया। इसके साथ ही दोनों टीमों को ड्राफ्ट में 3 खिलाड़ियों को चुनने के लिए 14 से 15 दिनों का समय दिया गया है।

BCCI ने दोनों नई टीमों को सौंपा लेटर ऑफ इंटेंट

BCCI Headquarters

गौरतलब है कि पिछले साल अक्टूबर के महीने में अहमदाबाद टीम के स्वसमित्व वाली कंपनी का विदेशी सट्टा लगाने वाली कंपनियों के साथ कथित संबंध थे। भारतीय क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई (BCCI) इस मामलें की जांच करवा रहा था। जांच के बाद अहमदाबाद टीम को क्लीन चिट के साथ लेटर ऑफ इंटेंट सौंप दिया गया है।

लेटर ऑफ इंटेंट (LOI) मिलने से दोनों नई टीमें आधिकारिक रूप से ऑक्शन से पहले खिलाड़ियों को ड्राफ्ट में चुन सकती हैं। इसको लेकर इन दिनों खबरों का बाजार गर्म है। अब तक सामने आई खबरों के मुताबिक के.एल राहुल लखनऊ टीम के कप्तान हो सकते हैं तो वहीं हार्दिक पांड्या इस साल आईपीएल (IPL) में अहमदाबाद की कमान संभालते नजर आ सकते हैं।

साल 2023 से ‘TATA IPL’

IPL Trophy

इसके साथ ही आपको बता दें कि आज आईपीएल गवर्निंग काउंसिल की मीटिंग मे फैसला लिया गया कि साल 2022 के बाद यानी 2023 से आईपीएल (IPL) की टाइटल स्पॉन्सरशिप भारतीय कंपनी टाटा (TATA) को मिल जाएगी।

मौजूद समय में आईपीएल की टाइटल स्पॉन्सरशिप वीवो (VIVO) के पास है। वीवो (VIVO) को भारतीय क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई (BCCI) को हर साल 440 करोड़ रुपये देने होते थे। वीवो का बीसीसीआई (BCCI) के साथ ये करार इसी साल खत्म होने को है। अब साल 2023 में टाटा कंपनी टूर्नामेंट की टाइटल स्पॉन्सर होगी

IPL 2022 आयोजन पर BCCI का बयान

IPL ground

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, देशभर में कोरोना का मामले बढ़ने के कारण महाराष्ट्र में ही आईपीएल 2022 (IPL 2022) के सभी मुकाबले खेले जाने की आशंका है। वहीं अगर कोरोना का खतरा बढ़ता नजर आया तो भारत के बाहर भी आईपीएल 2022 (IPL 2022) का आयोजन किया जा सकता है। हालांकि बीसीसीआई द्वारा इस बात को लेकर पुख्ता बयान नहीं दिया गया है। उनका कहना है कि हम भारत मे ही आईपीएल का आयोजन करना चाहते हैं। लेकिन आगे की परिस्थितियों के अनुसार फैसला लिया जाएगा।