i

आईपीएल के इस सीजन के 54 वें मैच के दौरान राजस्थान रॉयल्स और कोलकाता नाईट राइडर्स की टीमें आमने-सामने थी। मैच के दौरान कोलकाता ने अपने बल्लेबाजों और गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन की बदौलत राजस्थान को 60 रनों से हरा दिया। इसी के साथ कोलकाता ने प्लेऑफ में जगह बनाने की उम्मीद बरकरार रखी। जबकि राजस्थान रॉयल्स के लिए प्लेऑफ का सफर खत्म हो गया।

राजस्थान रॉयल के खिलाड़ियों ने किया खराब प्रदर्शन

AI 1932

मैच के दौरान पहले राजस्थान रॉयल्स ने टॉस जीता और गेंदबाजी करने का फैसला किया। पहले गेंदबाजी करने मैदान पर उतरी राजस्थान रॉयल के गेंदबाजों ने अच्छी शुरुआत की, लेकिन बाद में खराब गेंदबाजी हुई जिसके कारण कोलकाता ने निर्धारित 20 ओवर में 7 विकेट खोकर 191 रन बनाए।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी राजस्थान रॉयल्स 20 ओवर में 9 विकेट खोकर 131 रन बना सके। मैच में पावरप्ले के दौरान ही राजस्थान रॉयल्स के चार बल्लेबाज आउट होकर वापस पवेलियन लौट गए। मैच में हार के बाद जब राजस्थान रॉयल्स के कप्तान स्टीव स्मिथ से हार की वजह पूछी गई तो उन्होंने कई कारण बताएं।

स्टीव स्मिथ ने बताई हार की वजह

3588749423001 6030604914001 6030606177001

मैच में हार के बाद पोस्ट मैच प्रेजेंटेशन में बोलते हुए स्टीव स्मिथ ने कहां की-

“हमें लगा कि 180 एक अच्छा स्कोर है और हम इसे हासिल कर लेंगे, लेकिन पहले 4 ओवर में चार विकेट खोने के बाद हमारे लिए यह मुश्किल हो गया। मैच में कमिंस ने अच्छी गेंदबाजी की। हमने मैच में बड़े शॉट खेलने की कोशिश की, लेकिन हम ऐसा करने में असफल रहे। इस टूर्नामेंट के शुरुआत में हमने दो मैच जीतकर बेहतरीन शुरुआत की लेकिन बीच में हमारे खिलाड़ियों ने पर्याप्त जिम्मेदारी नहीं ली, जिसके कारण हम बीच के मैचों में लगातार हारे”

स्टीव स्मिथ ने की अपने खिलाड़ियों की तारीफ

SAM 0683

स्टीव स्मिथ ने मैच के प्रेजेंटेशन के दौरान टीम के उन खिलाड़ियों की तारीफ की जिन्होंने इस सीजन राजस्थान रॉयल्स के लिए शानदार प्रदर्शन किया, स्टीव स्मिथ ने कहा-

“जोफ्रा आर्चर ने हमारे लिए इस साल शानदार प्रदर्शन किया, वही राहुल तेवटिया ने टीम के लिए काफी अच्छी गेंदबाजी और बल्लेबाजी की और उन्होंने टीम के लिए अहम भूमिका निभाई। बीसीसीआई और आईपीएल में शामिल सभी लोगों ने अच्छा काम किया आशा है कि हम उन सभी के चेहरे पर मुस्कान ला सके होंगे खासकर भारत के लोगों के चेहरे पर जहां यह करना कठिन है”