भारतीय क्रिकेट में इन दिनों जिस तरह से विराट कोहली, हार्दिक पंड्या और दूसरे खिलाड़ी जितनी सुर्खिया बटोर रहे हैं उनके बराबर या उनसे भी ज्यादा सुर्खियों में इन दिनों भारतीय क्रिकेट टीम के युवा स्पिन गेंदबाज कुलदीप यादव हैं। कानपुर के युवा फिरकी गेंदबाज कुलदीप यादव ने जब से भारतीय क्रिकेट टीम में अपना डेब्यू किया है उसके बाद से तो लगातार अपने प्रदर्शन से जबरदस्त छाप छोड़ रहे हैं।

कुलदीप यादव समय के साथ कर रहे हैं अपना रूतबा कायम

भारतीय क्रिकेट के पहले चाइनामैन गेंजदबाज कुलदीप यादव अपनी फिरकी से विश्व क्रिकेट के बल्लेबाजों के सामनें चुनौती बनकर सामनें आ रहे हैं। कुलदीप यादव हर मैच के साथ निखर कर सामनें आ रहे हैं। कुलदीप यादव ने अपने इंटरनेशनल क्रिकेट का डेब्यू इसी साल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए धर्मशाला टेस्ट मैच में किया था। कुलदीप ने इस मैच में चार विकेट के साथ शुरूआत की जिसके बाद तो कुलदीप यादव ने अपने शानदार प्रदर्शन से भारतीय वनडे और टी-20 में भी जगह बना ली।

कुलदीप के अनुसार डेविड वार्नर थे उनके सामनें दबाव में

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पांच मैचों की वनडे सीरीज के पहले वनडे मैच में एक बार फिर से कुलदीप ने अपनी फिरकी का जादू दिखाया। कुलदीप यादव ने इस मैच में ऑस्ट्रेलियाई टीम के सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर को एक बार फिर से अपनी गेंद से उलझा के रख दिया। डेविड वार्नर का विकेट लेने वाले कुलदीप यादव का मानना है कि जब उनका सामना डेविड वार्नर कर थे तब खुद वार्नर बहुत ही दबाव में थे।

डेविड वार्नर के सामनें गेंदबाजी करने में आता है मजा

कुलदीप यादव ने इसको लेकर कहा कि

अगर आप एक बल्लेबाज हैं तो आप ज्यादा दबाव महसूस नहीं करते। मुझे लगता है कि जब वार्नर मुझे खेल रहे थे तब वो दवाब में थे। उनका ये सोचना था कि मैं उन्हें किसी भी समय आउट करके बाहर भेज सकता हूं। जब मैं वार्नर को गेंदबाजी करता हूं तो मुझे बहुत अच्छा लगता है। जब मैं उनको गेंदबाजी कर रहा था तब मैंने एक योजना बनायी थी। उम्मीद है कि अगले चार वनडे मैचों में भी मैं उन्हें इसी तरह आउट कर दूंगा।”

स्टीवन स्मिथ को गेंदबाजी करने से लगता है डर

इसके साथ ही कुलदीप यादव ने आगे ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों में गेंदबाजी करने में सबसे मुश्किल बल्लेबाज के बारे में कहा कि

“स्टीवन स्मिथ…. टेस्ट मैचों में मैेंने उन्हें गेंद को बेहतर तरीके से पढ़ते हुए देखा है। वो अच्छे से जानते हैं कि वो अकेले कैसे एकजूट हो सकते हैं। मुझे लगता है कि उन्हें गेंदबाजी करना सबसे कठिन है। आमतौर पर वो अपने पैर को स्टंप पर खेलना पसंद करते हैं। जब वो महसूस करते हैं वो आपको चौका मार सकते हैं।”