krunalwhystopped 1605192280

इंडियन प्रीमियर लीग 2020 में मुंबई इंडियंस को चैंपियन बनाने में अहम भूमिका अदा करने वाले ऑलराउंडर क्रुणाल पांड्या को मुंबई एयरपोर्ट पर अवैध सोना लाने के आरोप में रोका गया. क्रुणाल पांड्या पर आरोप है कि वो यूएई से तय सीमा से ज्यादा सोना लेकर आए. साथ ही उनके पास कुछ कीमती सामान भी मिला है. फिलहाल कस्टम के अधिकारी उनसे पूछताछ कर रहे हैं.

पांड्या परिवार को है गोल्ड का शौक

My family ☺️❤️ my world ? my people ? best feeling to see them after a great win and Well done lads @mumbaiindians | Cricket, Mumbai indians, Sports stars

मुंबई इंडियंस की टीम के ऑलराउंडर क्रुणाल पांड्या एक बेहतरीन खिलाड़ी के रूप में पहचाने जाते हैं. वहीं वो ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या के बड़े भाई हैं. दोनों ही भाइयों को गोल्ड ज्वेलरी का शौक है. क्रुणाल पांड्या अपनी पत्नी पंखुड़ी के साथ दुबई गए थे. वहीं हार्दिक पांड्या दुबई से ही ऑस्ट्रेलियाई दौरे के लिए रवाना हो गए.

वहीं उन्हें अब क्रुणाल पांड्या पर आरोप है कि वो यूएई से तय सीमा से ज्यादा का सोना लेकर आए. साथ ही उनके पास से कुछ कीमती सामान भी मिला है. क्रुणाल पांड्या को डायरेक्टरेट ऑफ़ रेवेन्यु इंटेलीजेंस के अधिकारियों ने रोका.

क्या हैं सीमा शुल्क के नियम

Mumbai airport plans to expand capacity

अरब देशों में सोने का दाम काफी कम होता है. अधिकतर लोग वहां सोने की खरीदारी करते हैं. विदेश से सोना भारत लाने के लिए दो नियम हैं. पुरुष यात्री 20 ग्राम वहीं महिलाएं अपने साथ 40 ग्राम सोना वापसी में ला सकती हैं.

एक किलो तक सोना लाने के लिए तकरीबन 12.5 फीसदी सीमा शुल्क का भुगतान करना होता है. जबकि कम समय के लिए विदेश गए व्यक्ति को सोने पर 38 फीसदी और छह महीने बाद वापस आने पर अतिरिक्त सोने के लिए तकरीबन 14 फीसदी सीमा शुल्क देना होता है.

भारत के मुकाबले विदेश में सोना कम दाम होने की वजह से भारत के लोग यूएई जैसे जहां पर जाकर ज्यादा से ज्यादा सोना लाने की कोशिश करते हैं. लेकिन भारत में इसे लेकर कई तरह के नियम बने हुए जिससे कोई भी व्यक्ति ज्यादा सोना नहीं ला सकता है.

पांड्या का आईपीएल 2020 में प्रदर्शन

Indian cricketer Krunal Pandya stopped at airport on suspicion of smuggling gold - The National

मुंबई इंडियंस के ऑलराउंडर खिलाड़ी क्रुणाल पांड्या ने आईपीएल के 13वें सीजन में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है. उन्होंने इस सीजन में 12 पारियों में महज 18.16 के औसत से 109 रन बनाए. वहीं बतौर गेंदबाज पांड्या को 16 मैचों में सिर्फ 6 विकेट मिले. उन्होंने इस सीजन अपनी टीम के लिए काफी अच्छी भूमिका निभाई हैं. जिसकी वजह से मुंबई इंडियंस की टीम आईपीएल का एक ओर खिताब अपने नाम करने में सफल है.