महेंद्र सिंह धोनी…. भारतीय क्रिकेट का एक ऐसा नाम जिनकी चर्चा शायद ही कभी खत्म हो. जब से एमएस धोनी ने क्रिकेट के खेल में कदम रखा है, तब से वह लगातार सुर्ख़ियों में बने रहे. मगर बीते एक साल से तो लगभग हर दिन हर एक क्रिकेट एक्सपर्ट और फैन की जुबां पर एक बात सुनने को मिलती है, कि अब धोनी का टीम इंडिया में भविष्य क्या हैं?

एमएस धोनी संन्यास कब लेंगे, क्या धोनी आगे खेलेंगे, क्या धोनी में अभी भी क्रिकेट बचा है???? इत्यादि.. इत्यादि.. इत्यादि.. क्रिकेट के गलियारों में बस यही सब सुनने को मिलता है.

गौरतलैब है कि 2019 एकदिवसीय विश्व कप के बाद से एमएस धोनी ने टीम इंडिया के लिए एक भी मैच नहीं खेला है और पिछले साल तक तो यहां तक उम्मीद लगाई जा रही थी, कि धोनी शायद वर्ल्ड कप के तुरंत बाद वनडे फॉर्मेट से संन्यास का ऐलान भी कर सकते है.

क्रिस्टन ने धोनी के संन्यास पर रखा अपना मत

साल 2008 से 2011 तक टीम इंडिया के हेड कोच के रूप में काम करने वाले दक्षिण अफ्रीका के पूर्व दिग्गज गैरी क्रिस्टन ने एमएस धोनी के संन्यास की खबरों पर अपनी चुप्पी तोड़ी. टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत के दौरान गैरी ने कहा,

“एमएस धोनी एक अविश्वसनीय क्रिकेटर है. इंटेलिजेंस, शांति, शक्ति, एथलेटिकिज्म, गति और एक मैच-विजेता उसे दूसरों से अलग करते हैं और उसे आधुनिक युग के महानतम खिलाड़ियों में शामिल करते हैं.”

धोनी के पास है खुद फैसला लेने का हक

गैरी क्रिस्टन टीम इंडिया के सबसे सफल कोच में से एक रहे. उनकी ही कोचिंग में भारत ने 28 सालों के एक लंबे अन्तराल के बाद वनडे विश्व कप जीता था. क्रिस्टन ने आगे अपने बयान में धोनी को लेकर कहा,

”धोनी ने इस खेल को अपनी शर्तों पर छोड़ने का अधिकार अर्जित किया है और किसी भी धोनी के भविष्य पर बोलने का कोई हक नहीं है.”

आप सभी को बता ते चले, कि धोनी आईपीएल 2020 के जरिये एक बार फिर से मैदान पर नजर आने वाले थे, लेकिन कोरोना वायरस के चलते ना सिर्फ टूर्नामेंट को स्थगित करना पड़ा, बल्कि धोनी का मैदान पर उतरने का इंतजार भी बढ़ गया.

AKHIL GUPTA

क्रिकेट...क्रिकेट...क्रिकेट...इस नाम के अलावा मुझे और कुछ पता नहीं हैं. बस क्रिकेट...