विराट कोहली

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली आगामी टेस्ट सीरीज की तैयारियों में व्यस्त हैं। लेकिन इस बीच केरल हाई कोर्ट ने विराट को ऑनलाइन रमी गेम का ब्रांड एम्बेसडर होने के लिए नोटिस भेजा है। दरअसल, हाई कोर्ट की एक डिविजन बेंच ऑनलाइल रमी गेम की रोक से जुड़ी याचिका की सुनवाई कर रही थी। अब यकीनन इससे कप्तान विराट कोहली की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

केरल हाई कोर्ट ने विराट कोहली को भेजा लीगल नोटिस

विराट कोहली

केरल हाई कोर्ट ने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली को ऑनलाइन रमी गेम का ब्रांड एम्बेसडर होने के चलते एक लीगल नोटिस भेजा है। केरल हाई कोर्ट ने ना केवल विराट बल्कि उनके साथ-साथ तम्मना भाटिया और मलयालम एक्टर अजु वर्गीज  को भी बुधवार को नोटिस भेजा है, क्योंकि ये तीनों ही बड़ी हस्तियां ऑनलाइन गेम ब्रांड रमी के एंबेसडर हैं और इसे प्रमोट करते हैं।

हाई कोर्ट ने हस्तियों के अलावा राज्य सरकार, राज्य के आईटी विभाग, टेलीकॉम रेग्यूलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया और ऑनलाइन रमी गेम को चलाने वाली 2 प्राइवेट कंपनियों को भी नोटिस भेजा है।

क्यों चल रहा है केस?

ऑनलाइन रमी गेम पर केरल के पॉली वडक्कम नामक व्यक्ति ने केरल हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी। अब पता चला है कि इस शख्त ने ये याचिका इसलिए दायर की है क्योंकि ये गेम जुए की सीमाओं में आता है। एएनआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अपनी याचिका में उन्होंने दलील दी थी कि,

‘ऑनलाइन रमी गेम बहुत ज्यादा प्रचलित हो रही है। इसे कानूनी तौर पर रोका जाना चाहिए। दूसरे राज्यों ने भी ऐसा किया है। केरल के पास भी 1960 का ऐसा कानून है लेकिन अब तक ऐसा कोई कदम नहीं उठाया गया है। जो सितारे इस ऑलनाइल गेम के ब्रांड एम्बेसडर हैं, वे लोगों इस कॉम्पिटीशन में खेलने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। ऑनलाइन रमी जुए की सीमाओं में आता है।’

पैसे हारने के कारण व्यक्ति ने कर ली थी आत्महत्या

विराट कोहली

ऑनलाइन आज कल व्यक्ति के सामने कई ऐसे विकल्प मौजूद हैं जिसमें वह पैसे लगाकर अपने पैसे को दोगुना,तिगुना करने की उम्मीद करता है। उन्हीं में से एक गेम है रमी। मगर कई बार लगाए हुए पैसे डूब जाते हैं और वह व्यक्ति सदमे में चला जाता है।

27 साल के विनीथ ने कुछ दिनों पहले ही तिरुवनंतपुरम के कुट्टीचल में आत्महत्या कर ली थी। इस खेल में उसे 21 लाख रुपये के नुकसान से गुजना पड़ा था। वहीं और भी कई लोग बड़ी-बड़ी राशियां हार जाते हैं, क्योंकि ये एक तरह से जुए के खेल जैसा है। साजेश ने भी ऑनलाइन रमी खेलते हुए एक बड़ी राशि खो दी थी. उन्होंने कहा,

“माननीय उच्च न्यायालय का हस्तक्षेप स्वागत योग्य है क्योंकि मुझे पता है कि कई लोग इस ऑनलाइन गेम को खेलते हुए बड़ी राशि खो चुके हैं। मैं खुद 6 लाख से ज्यादा रुपये गंवा चुका हूं।”