KL Rahul

KL Rahul: भारत और ज़िम्बाब्वे के बीच 3 मैचों की वनडे श्रृंखला का पहला मैच आज यानी 18 अगस्त को हरारे स्पोर्ट्स क्लब में खेला गया. जिसमें टीम इंडिया ने शानदार जीत हासिल की. इस सीरीज़ में टीम इंडिया की कमान केएल राहुल के हाथों में है. राहुल जनवरी के बाद अब भारत की कप्तानी करते हुए नज़र आएंगे. ऐसे में सीरीज़ के शुरू होने से पहले केएल (KL Rahul) ने मीडिया से बातचीत करते हुए विराट कोहली , रोहित शर्मा और एमएस धोनी के बारे में बड़ी प्रतिक्रिया दी है.

KL Rahul ने विराट, रोहित और धोनी को लेकर दिया बड़ा बयान

KL Rahul

आपको बता दें कि स्टाइलिश बल्लेबाज़ और कप्तान केएल राहुल (KL Rahul) ने तकरीबन 3 महीने बाद टीम इंडिया में वापसी की है. राहुल का कप्तानी करियर का आगाज़ दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ काफी निराशाजनक रहा था. इनकी अगुवाई में टीम अब तक एक भी मैच नहीं जीत पाई है.

राहुल ने माही, विराट और रोहित की कप्तानी में काफी क्रिकेट खेला है. वहीं अब ज़िम्बाब्वे सीरीज़ के शुरू होने से पहले जब मीडिया ने राहुल से पूछा कि वह एमएस धोनी, विराट कोहली और रोहित शर्मा में से किसके नक्शे कदम पर चलना चाहेंगे तो राहुल ने इसके जवाब में तीनों खिलाड़ियों की सरहाना करते हुए कहा,

“जो नाम आपने लिए, मैं इन लोगों के साथ अपनी तुलना भी नहीं कर सकता. धोनी ने देश के लिए जो किया है वह उनके आंकड़े बयां करते हैं. उसकी तुलना नहीं की जा सकती. मुझे नहीं लगता कि इनमें से कोई भी नाम लेना जायज है।”

“कप्तान के रूप में यह मेरी दूसरी सीरीज है. जाहिर है मैंने धोनी के नेतृत्व में काफी क्रिकेट खेला है और खिलाड़ी के रूप में उनसे बहुत कुछ सीखा है. मैंने हमेशा धोनी, विराट या रोहित से उनके गुण को अपनाने की कोशिश की है.”

प्लेयर्स के वर्कलोड मैनजमेंट पर भी दी प्रतिक्रिया

KL Rahul

ज़िम्बाब्वे दौरे पर टीम के कप्तान केएल राहुल (KL Rahul) ने भारतीय टीम के खिलाड़ियों के कार्यभार प्रबंधन को लेकर भी बात की है. राहुल ने अपने बयान में बताया कि आखिर इस दौरे पर कप्तान के रूप में उनके लिए क्या सबसे बड़ी चुनौती हो सकती है. केएल राहुल ने कहा,

“मुझे पता है कि सभी खिलाड़ियों ने अच्छी तैयारी की है। सभी खिलाड़ी जानते हैं कि उन्हें क्या करने की आवश्यकता है। मेरी जिम्मेदारी यह होगी कि मैं उन्हें ठीक तरह से मैनेज करूं और उन्हें आत्मविश्वास दिलाऊं, ताकि वह मैदान पर जाकर अच्छा प्रदर्शन कर सकें. वह खेल के मैदान पर वह करें जो उन्हें लगता है कि सही है.”

उन्होंने आगे कहा,

हम में से कुछ खिलाड़ी चोट से वापस आए हैं और कुछ ने बहुत क्रिकेट खेला है। इन सभी को मैनेज करना मेरे लिए चुनौती होगी और मैं अच्छा करने की कोशिश करूंगा.