9S6A4237

आईपीएल के जारी सीजन कोलकाता नाईट राइडर्स ने उतने ही मैच जीते, जितने मैच में हैदराबाद की टीम ने जीत हासिल की। लेकिन रेट रन रेट की गणित ने कोलकाता के इस साल के आईपीएल के सफर को यही पर खत्म कर दिया, और हैदराबाद प्लेऑफ़ में पहुच गई। इस साल पॉइंट टेबल में 3 टीम ऐसी है जिनके 14 अंक है, लेकिन सिर्फ 2 टीम ही प्लेऑफ़ में पहुच सकी।

कोलकाता नेट रन रेट की वजह से हुए बाहर

AI 2744

कोलकाता नाइट राइडर्स ने इस आईपीएल सीजन 14 मैच में 7 मैच में जीत हासिल किए, वहीं 7 मैच में टीम हार गई। हैदराबाद ने भी इस सीजन 14 मैच में 7 मैच जीते लेकिन टीम का नेट रन रेट काफी बेहतर रहा जिसकी वजह से टीम कोलकाता नाईट राइडर्स को पीछे छोड़कर प्लेऑफ़ में पहुच गई।

अगर बाकी टीम के मैच पर नजर डाले तो दिल्ली कैपिटल्स की वजह से कोलकाता प्लेऑफ़ में पहुच सकती थी, लेकिन कोलकाता के शायद खराब किस्मत की वजह से ऐसा नहीं हुआ। बात दरअसल कुछ ऐसी है की अगर अगर दिल्ली और आरसीबी के बीच खेले गए मैच में दिल्ली थोड़ी जल्दी जीत जाती तो कोलकाता प्लेऑफ़ में पहुच सकती थी।

9 गेंद ने कोलकाता को करवा दिया बाहर

VRP4823

दिल्ली और बैंगलोर के बीच 55वां मैच खेल गया, इस मैच में दिल्ली ने आरसीबी को 19 ओवर में हराया, आरसीबी और दिल्ली के बीच खेले गए मैच के दौरान अगर दिल्ली कैपिटल्स 9 गेंद पहले मैच में जीत जाती तो आरसीबी प्लेऑफ़ से बाहर हो जाते और कोलकाता प्लेऑफ़ में पहुच जाती। वहीं अगर हैदराबाद और मुंबई के बीच खेले गए मैच के दौरान अगर मुंबई जीत जाती तो कोलकाता प्लेऑफ़ में पहुच जाती।

यह पहली बार नहीं था जब नेट रन रेट ने कोलकाता की किस्मत तय की बल्कि साल 2019 में भी ऐसा ही हुआ था। पिछले साल दिल्ली, मुंबई और चेन्नई के 18-18 अंक थे, तीनों ने प्लेऑफ खेला था। प्लेऑफ खेलने वाली चौथी टीम सनराइजर्स हैदराबाद थी और उसने इस रेस में केकेआर को नेट रनरेट के आधार ही पछाड़ा था। उस समय भी हैदराबाद और कोलकाता के 12-12 अंक थे।

 कोलकाता ने फैंस को कहा शुक्रिया

प्लेऑफ़ से बाहर होने के बाद कोलकाता नाईट राइडर्स ने टीम के फैंस को शुक्रिया कहा। कोलकाता ने उम्मीद जताई की अगले साल टीम अच्छा प्रदर्शन करेगी। अब देखना दिलचस्प होगा की अगले साल टीम का कप्तान कोण होता है इस साल के आईपीएल के बीच में कोलकाता ने अपना कप्तान कार्तिक से बदलकर मॉर्गन को कप्तान बना दिया।