21 03 376070088pollard ll

आईपीएल के मौजूदा सीजन मुंबई इंडियंस से शानदार प्रदर्शन देखने को मिला, मुंबई इंडियंस इस सीजन ना सिर्फ आईपीएल के पॉइंट टेबल में पहले स्थान पर रही बल्कि शानदार प्रदर्शन करते हुए फाइनल में भी पहुच गई। मुंबई इंडियंस के खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर नजर डाले तो टीम में किरोन पोलार्ड और पांड्या ब्रदर्स की भूमिका काफी अहम रही। इसी क्रम में पोलार्ड ने पांड्या ब्रदर्स को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी की कौन ज्यादा समझदार है।

पांड्या ब्रदर्स में कौन है ज्यादा समझदार

SAM 9945 571 855

मुंबई इंडियंस ने आज एक वीडियो शेयर किया, जिसमें मुंबई इंडियंस के स्टार क्रिकेटर किरोन पोलार्ड ने पांड्या ब्रदर्स के बारे में अपनी प्रतिक्रिया दे रहे है। किरोन पोलार्ड ने दोनों भाइयों का जिक्र करते हुए इस वीडियो में कहा की जैसा कि मैं हमेशा कहता हूं कि हमारे पास हार्दिक पांड्या हैं और फिर एक उनसे भी समझदार पांड्या (क्रुणाल) हैं। हमारा मैदान से बाहर जो रिश्ता है वह हम क्रिकेट के मैदान में लेकर जाते है।

आगे बोलते हुए किरोन पोलार्ड कहा कि दूसरों की मदद करने के मामले में हम उसी तरह भावनाओं को साझा करते है, जैसे हम हैं। पोलार्ड के अनुसार आत्मविश्वास और खुद का समर्थन करने के मामले में वह और हार्दिक एक समान हैं, दोनों बड़े शॉट्स खासकर छक्के लगाने की क्षमता के लिए जाने जाते है।

इस साल पांड्या ब्रदर्स और पोलार्ड ने मचाया धमाल

6e3253c88ca778b9100108bc3d9f28c7आईपीएल के इस सीजन पांड्या ब्रदर्स और पोलार्ड से शानदार प्रदर्शन देखने को मिला, इन खिलाड़ियों ने मुंबई के लिए निचले मध्यक्रम में शानदार प्रदर्शन करते हुए अहम भूमिका निभाई। अगर इस तीनों खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर नजर डाले तो हार्दिक ने इस सीजन 13 मैच में 278 रन बनाए, वहीं पोलार्ड के बल्ले से 259 रन निकले। वहीं अगर क्रुणाल के प्रदर्शन पर नजर डाले तो उन्होंने दोनों विभाग में बेहतर किया।

क्रुणाल पंड्या ने इस सीजन 15 मचों में 108 रन बनाए, वहीं अगर उनकी गेंदबाजी की बात करें तो उन्होंने 6 विकेट झटके, इस दौरान उन्होंने काफी किफायती गेंदबाजी की। क्रुणाल ने इस सीजन 7.42 की इकॉनमी से रन खर्च किए। हालांकि हार्दिक ने इस सीजन गेंदबाजी नहीं की।

पोलार्ड इस साल बने संकटमोचक

kieron pollard 1603511340

आईपीएल के मौजूदा सीजन पोलार्ड ने टीम के लिए संकतमोचक की भूमिका निभाई। जब टीम के कप्तान रोहित शर्मा चोटिल हो गए थे उस दौरान पोलार्ड टीम के कप्तान बने और उन्होंने मुंबई के लिए संकटमोचक की भूमिका निभाई। पोलार्ड ने इस सीजन टीम के लिए 10 मैच में गेंदबाजी भी की। पोलार्ड को गेंदबाजी के दौरान कुल 4 विकेट मिले।