आईपीएल 2018 में तीन साल के प्रतिबंध के बाद मैदान में फिर उतरी दो बार की आईपीएल विजेता चेन्नई सुपर किंग्स। पेहला मुकाबला 7 अप्रैल 2018 को खेला गया । यह मुकाबला हुआ मुम्बई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच।

इस रोमांचक मुकाबले में केदार जाधव अपने बाएं पैर के घुटने का सहारा ले बैठते है और गेंद को थर्ड मैन बाउंड्री की तरफ मार देते है। इस चौके के साथ चेन्नई मैच में वापसी करती है और इस मुकाबले को 1 विकेट से जीत जाती है।

इस मुकाबले के बाद मैदान से दूर है केदार जाधव

Pic credit: Getty images

इस पहले मुकाबले के बाद केदार जाधव पूरे आईपीएल दुबारा अपने शॉट्स लगाते नहीं दिखे। वजह थी हैमस्ट्रिंग। इंग्लैंड दौरे पर भी वह चोट के कारण टीम इंडिया के स्क्वाड से बाहर रहे। लेकिन इस शुक्रवार जाधव ने क्रिकेट जगत में जल्द वापसी का संकेत दे दिया है। उन्होंने कहा कि मैं दो से तीन हफ़्तों में खेलना शुरू कर दूंगा।

एक प्रमोशनल इवेंट के दौरान कही जल्द वापसी की बात

Pic credit:Getty images

उन्होंने शुक्रवार को एक प्रमोशनल इवेंट के दौरान कहा “बस दो से तीन हफ्ते और मैं बिल्कुल स्वस्थ हो जाऊंगा और खेलना शुरू कर दूँगा। मुझे बल्लेबाजी करने को बोल दिया गया है लेकिन बारिश के कारण मैं अभी मैदान से दूर हूँ।”

उन्होंने यह भी कहा कि “उम्मीद से ज्यादा तेजी से मैं ठीक हो रहा हूँ।”

एक ही जगह तीन बार लगी चोट, मेलबॉर्न में हुआ सर्जरी

जाधव
Pic credit: Getty images

आगे कहते हुए उन्होंने कहा “यह सच है कि उसी जगह मुझे तीसरी बार चोट लगी है। मुझे पेहली दफा श्रीलंका के विरुद्ध धर्मशाला में, दूसरी दफा साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीसरे एकदिवसीय में और आखिरी चोट आईपीएल के पहले मुकाबले में।”

उन्होंने कहा “जब कोई चीज बार-बार होती है तो हमें उसका सॉल्यूशन चाहिए होता है। भारतीय टीम के फिजियो और डॉक्टर्स ने मुझे सर्जरी का सुझाव दिया।” उनका कहना था की लंबे समय तक क्रिकेट से जुड़े रहने के लिए यह जरूरी है।

आईपीएल और इंग्लैंड दौरे में न खेल पाने का दुख

Pic credit: Getty images

जाधव ने यह भी कहा कि “उन्हें बहुत दुख है की आईपीएल और भारत के इंग्लैंड दौरे पर वह जा नहीं पाए। चोट से उभरना बहुत मुश्किल का काम है।” आगे बातों को जोड़ते हुए उन्होंने कहा “यह तीन महीने मेरे लिए काफी मुश्किलों का दौर रहा है। मुझे स्वस्थ रहने का महत्व समझ आ गया है।” आपको बता दे की जाधव अब तक भारत के लिए 40 एकदिवसीय खेल चुके है।

कहा इस मुश्किल घड़ी में कप्तान विराट ने दिया साथ

Pic credit: Getty images

उन्होंने यह भी कहा ” चोट लगना खेल का एक अंग है और आप इसका कुछ नहीं कर सकते। लेकिन मुझे अपने शरीर को समझने का एक मौका मिला। इस दौरान भारतीय कप्तान विराट कोहली ने मेरा काफी साथ दिया। सिर्फ इस दौरान ही नहीं बल्कि जब मैं पहली बार भारतीय टीम का हिस्सा बना था तो उन्होंने मुझे ब्लैकबेरी का फोन दिया था।”

अंत मे केदार ने कहा “एक कप्तान के तौर पर विराट युवाओं का मैदान पर काफी साथ देते है। मैदान से बाहर वो एक अच्छे, प्यार फैलाने वाले इंसान है।”

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *