4bc1929c kj7

आईपीएल के जारी सीजन महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व वाली चेन्नई सुपर किंग्स से बेहद खराब प्रदर्शन का नजारा देखने को मिला, टीम के लगातार खराब प्रदर्शन को देखते हुए ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि शायद वह आईपीएल के प्लेऑफ में भी नहीं पहुंच पाएंगे।

चेन्नई सुपर किंग्स के खराब प्रदर्शन करने की वजह हो पर नजर डालें तो टीम के कई खिलाड़ियों का लगातार खराब प्रदर्शन टीम को भारी पड़ा। इसी क्रम में हम बात करेंगे चेन्नई के क्रिकेटर केदार जाधव के बारे में जिसने अब तक इस सीजन बेहद खराब प्रदर्शन किया और उसके प्रदर्शन को देखकर लगता है कि शायद यह सीजन उससे आईपीएल क्रिकेट करियर का आखिरी सीजन साबित हो।

खत्म हो सकता है केदार जाधव का आईपीएल करियरKedar Jadhav 620x400

केदार जाधव एक लोअर मिडल ऑर्डर बल्लेबाज के तौर पर चेन्नई सुपर किंग्स का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। लेकिन जब भी चेन्नई सुपर किंग्स को केदार जाधव के प्रदर्शन की जरूरत थी तो वह टीम के उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे। अभी नया मामला कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ हुए मुकाबले का ही देख लीजिए।

जब चेन्नई को केदार जाधव से तेजी से बल्लेबाजी की जरूरत थी, तब वह 12 गेंद पर महज 7 रन बनाकर टीम के जीत की उम्मीदों पर पानी फेर दिया। लोगों को लगता है अगर उस मैच मे जाधव की जगह कोई और खिलाड़ी होता तो शायद चेन्नई सुपरकिंग्स को हार नहीं मिलती, उस मैच मे टीम को 10 रन से हार मिली थी।

इस साल बेहद खराब रहा केदार जाधव का प्रदर्शनdownload 1 1

जाधव ने इस साल अब तक 6 आईपीएल मैच खेले जिसमें उन्हें चार पारियों में बल्लेबाजी करने का मौका मिला उन्होंने बल्लेबाजी के दौरान 19.33 की औसत से एवं 98.30 की स्ट्राइक रेट से 58 रन बनाए। केदार जाधव के मौजूदा फॉर्म को देखकर लगता है कि चेन्नई सुपर किंग्स हो सकता है कि आगामी मुकाबलों में उन्हें मौका भी ना दें और केदार जाधव अगर चेन्नई से बाहर हुए तो शायद दूसरी टीम उन पर भरोसा भी ना जताए।

केदार जाधव का आईपीएल करियर

4bc1929c kj7

केदार जाधव के आईपीएल करियर पर नजर डालें तो उनके प्रदर्शन कुछ खास नहीं है अब तक हुआ 85 मैच खेल चुके हैं जिसमें उन्होंने 74 पारियों मे बल्लेबाजी करते हुए 22.74 की औसत से 1137 रन बनाए, 69 रन उनका सर्वाधिक स्कोर रहा। अगर स्ट्राइक रेट की बात करें तो केदार जाधव के आईपीएल करियर का स्ट्राइक रेट 174.67 है, जो की निचले क्रम में बल्लेबाजी करने वाले खिलाड़ियों के आकड़ों के अनुसार अच्छा नहीं है।