895921 afp 2

टीम इंडिया को पहला वर्ल्ड कप जिताने वाले कपिल देव को अभी हाल ही में कुछ दिन पहले ही हार्ट अटैक से गुजरना पड़ा था. लेकिन अब वो पूरी तरह से ठीक है. तो वहीं चेन्नई सुपर किंग्स की टीम आईपीएल-2020 के इस सीजन में कुछ ख़ास नहीं कर सकी. जिसका एक कारण कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का फॉर्म में ना होना भी हैं. जिसके बाद पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव ने धोनी को लेकर कही ये बात.

धोनी की फॉर्म पर बोले कपिल देव

Kapil Dev: India cricket legend stable after heart surgery - BBC News

महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स की टीम पहली बार आईपीएल के इतिहास में प्लेऑफ में नहीं पहुँच सकी. जिसके बाद ये आईपीएल-2020 की पहली टीम थी. जो इस रेस से सबसे पहले बाहर हुई थी. लेकिन अब इस बात पर बोलते हुए एबीपी न्यूज़ से बात करते हुए कपिल देव ने कहा कि

“अगर धोनी सिर्फ आईपीएल को खेलने के लिए हर साल देखते हैं, तो उनके लिए ऐसे में बहुत दिक्कत की बात होगी कि अच्छा प्रदर्शन कर सके. उनकी उम्र के बारे में बात करना अच्छी बात नहीं हैं, लेकिन वो अपनी (39) उम्र में जितना खेलेंगे, उनकी बॉडी उतनी ख़राब होगी.”

कपिल देव ने क्रिस गेल का उदाहरण देकर बताई बात

KAPIL DEV SUFFERS HEART ATTACK, UNDERGOES ANGIOPLASTY AT DELHI

टीम इंडिया को पहला वर्ल्ड कप जिता चुके पूर्व भारतीय खिलाड़ी कपिल देव ने क्रिस गेल का उदाहरण देते हुए अपनी बात को आगे बढाया और उन्होंने कहा कि

“अगर आप साल में 10 मैच नहीं खेलते है और फिर आप आकर आईपीएल खेलने लगते है, आप को पता ही है कि क्या होता है. अगर आप ने काफी क्रिकेट खेला है तो आप को एक ही सीजन में काफी उतार-चड़ाव से गुजरना पड़ता है. जो हम लोगों ने क्रिस गेल के साथ होते हुए देखा है. अगर धोनी को अपनी फॉर्म को वापस पाना है तो उन्हें डोमेस्टिक लिस्ट ए और टी20 मैच खेलने होगे.”

धोनी के लिए हो सकती है दिक्कत

Kapil Dev discharged from hospital, former teammate Chetan Sharma shares pic on Twitter - INDIA - GENERAL | Kerala Kaumudi Online

पूर्व भारतीय ऑलराउंडर खिलाड़ी कपिल देव ने इस बात को साफ़ करते हुए हुए कहा कि जैसा की धोनी ने पहले ही कहा है कि अभी आईपीएल ने संन्यास नहीं ले रहे है मतलब वो आगे भी आईपीएल खेलते हुए नज़र आएंगे. इस बात उन्होंने कहा कि

“अगर किसी ने बहुत कुछ पा लिया हो, तो वो उसके वो उसकी गहराई में काफी अंदर तक चला जाता है जो उसके लिए बाद में एक चैलेंज बन जाता है. चलिए देखते है कि वो इस स्थिति से कैसे बाहर आते हैं.”