Kapil dev on Virat, Rohit And KL Rahul

इंडियन क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान कपिल देव (Kapil Dev) ने भी टी20 फॉर्मेट में रोहित शर्मा, विराट कोहली और केएल राहुल के बल्लेबाजी करने के अंदाज पर सवाल उठाए हैं। टीम इंडिया की नजर इस साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्वकप पर टिकी हुई है।

पिछले साल इसी टूर्नामेंट में बुरा हश्र होने के बाद तत्कालीन कप्तान विराट कोहली, रोहित शर्मा और केएल राहुल के ऊपर सवाल खड़े किए थे। क्योंकि ये तीनों ही बल्लेबाज टीम में सबसे ज्यादा अनुभवी थे। ऐसे में अब कपिल देव ने इन तीनों बल्लेबाजों को जमकर फटकार लगाई है।

“जब टीम को रन चाहिए होते हैं ये आउट होकर चल देते हैं” – Kapil Dev

Think The Approach Needs To Change - Kapil Dev On Rohit Sharma, Virat Kohli, and KL Rahul

भारत को पहली बार वर्ल्ड कप जिताने वाले कप्तान का मानना है कि मौजूदा समय में रोहित, विराट और राहुल तीनों ही टीम इंडिया के बड़े खिलाड़ी है, वे दबाव में रन बना सकता हैं। लेकिन जब टीम को जरूरत होती है तो वे बिना कोई योगदान दिए आउट हो जाते हैं। एबीपी अनकट के माध्यम से कपिल देव (Kapil Dev) ने कहा,

“तीनों का बहुत नाम है, ऐसे में उन पर काफी दबाव होता है, जो नहीं होना चाहिए। आपको निडर क्रिकेट खेलना चाहिए। ये तीनों ऐसे खिलाड़ी हैं, जो 150-160 के स्ट्राइक रेट से रन बना सकते हैं। जब हमें उनसे रन चाहिए होते हैं, ये आउट होकर चल देते हैं। जब रन तेजी से बनाने की जरूरत होती है, ये आउट हो जाते हैं और इससे दबाव बढ़ जाता है। या तो आप स्ट्राइकर की तरह खेलें या फिर एंकर की तरह।”

Kapil Dev ने केएल राहुल पर साधा निशाना

Ready for responsibility and challenge': KL Rahul on becoming Team India's vice-captain for Australia tour

इसी दौरान कपिल देव (Kapil Dev) ने केएल राहुल का खास जिक्र करते हुए कहा कि अगर आप 20 ओवर खेलने के बाद सिर्फ़ 60 रन बना रहे हैं तो इससे आप अपनी टीम का भला नहीं कर रहे हैं, बल्कि और ज्यादा मुसीबत में डाल रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर ये तीन बल्लेबाज अपना बैटिंग अप्रोच नहीं बदल सकते हैं तो टी20 फॉर्मेट में कुछ नए खिलाड़ियों को तैयार करने की जरूरत है। कपिल देव (Kapil Dev) ने कहा,

‘मुझे लगता है कि अप्रोच बदलने की जरूरत है, और अगर ऐसा नहीं होता है, तो आपको खिलाड़ियों को बदलना चाहिए। एक बड़े खिलाड़ी से उम्मीद होती है कि उसका बड़ा असर हो। सिर्फ नाम बड़ा होने से कुछ नहीं होता है। आपको शानदार प्रदर्शन करना होता है।’