भारतीय टीम से 3 मैचों की टी20 सीरीज में 1-0 से पिछड़ रही न्यूजीलैंड की टीम शनिवार को टी20 सीरीज का दूसरा टी20 मैच खेलने गुजरात के राजकोट मैदान में उतरी.

टी20 सीरीज के इस दुसरे टी20 मैच को न्यूजीलैंड की टीम ने अपने शानदार प्रदर्शन के चलते आसानी से 40 रनों से जीत लिया और मैच जीतने के साथ ही सीरीज भी 1-1 से बराबर कर ली है.

मुनरो-गुप्टिल ने दिलाई शानदार शुरूआत 

इस मैच में न्यूजीलैंड टीम के कप्तान केन विलियम्सन ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया. पहले बल्लेबाजी करते हुए न्यूजीलैंड की टीम के दोनों ही ओपनर मार्टिन गुप्टिल व कॉलिन मुनरो ने न्यूजीलैंड को शानदार 105  रन की शुरूआत दिलाई.

हालाँकि इसके बाद मार्टिन गुप्टिल तो 41 गेंद में 45 रन बनाकर आउट हो गये, लेकिन कॉलिन मुनरो ने अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी जारी रखी और मैच में एक शानदार शतक बना डाला.

कॉलिन मुनरो की शानदार 58 गेंद में नाबाद 109 रन की पारी की बदौलत न्यूजीलैंड की टीम ने निर्धारित 20 ओवर में 2 विकेट के नुकसान पर 196 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया.

भारत के बल्लेबाजों ने किया सरेंडर 

जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरूआत बेहद खराब रही और भारतीय टीम के दोनों ही ओपनर शिखर धवन और रोहित शर्मा टीम के मात्र 11 रन के स्कोर पर पवेलियन लौट गये.

इसके बाद एक छोर से विराट कोहली जरुर अपने बल्ले से रनों की बरसात कर रहे थे लेकिन विराट को दूसरी तरफ से बेहतर साथ नहीं मिल पा रहा था जिसके चलते भारतीय टीम निर्धारित 20 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 156 रन ही बना सकी.

भारत के लिए सबसे ज्यादा 42 गेंद में 65 रन विराट कोहली ने बनाये. वही न्यूजीलैंड टीम के लिए ट्रेंट बोल्ट ने अपने 4 ओवर में मात्र 34 रन देकर 4 विकेट निकाले.

हम हर विभाग में अच्छा खेले 

न्यूजीलैंड के मैच जीतने के बाद न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन ने अपनी पोस्ट मैच कॉन्फ्रेंस में कहा, “हमारा यह प्रदर्शन सीरीज के पिछले टी20 मैच से बिलकुल अलग है. हम आज हर विभाग में अच्छा खेले है और इसी का नतीजा हमें जीत के रूप में मिला है.

मुनरो और गुप्टिल की साझेदारी शानदार थी. ऐसी साझेदारी बहुत कम देखने को मिलती है. मुनरो का शतक भी बहुत बढ़िया था. जब टीम के पास एक शानदार स्कोर होता है, तो हमेशा दूसरी टीम में दबाव बनाने में आसानी होती है, जो आज हम भारत के साथ भी कर सके. गुप्टिल के वापस फॉर्म में आने से खुश हूं, युवा टॉम ब्रूस ने भी बल्लेबाजी में अपनी अच्छी प्रतिभा दिखाई.

हमारे दोनों स्पिनर इस प्रारूप में काफी अनुभवी है और उन्होंने हमारे लिए कठिन परिस्थितियों में भी अच्छी गेंदबाजी की है.”

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *