Kane williamson-IPL

सुपर संडे में केकेआर और सनराइजर्स हैदराबाद (KKR vs SRH) के बीच खेला गया दूसरा मुकाबला रोमांच से भरा रहा. इस मैच में केन विलियमसन (Kane williamson) की टीम को करारी हार का सामना करना पड़ा है. टॉस जीतकर हैदराबाद की टीम ने पहले बल्लेबाजी का फैसला करते हुए इयोन मोर्गन को गेंदबाजी का न्योता दिया था. परिणामस्वरूप पहले बल्लेबाजी करने उतरी केन की टीम 8 विकेट के नुकसान पर 116 रन का लक्ष्य ही खड़ा कर सकी थी. जिसका पीछा करने कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम ने इस मैच को 6 विकेट से अपने नाम कर लिया.

केकेआर के खिलाफ हैदराबाद को करना पड़ा हार का सामना

Kane williamson

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला हैदराबाद के कप्तान की टीम पर भारी पड़ गया. एक भी बल्लेबाज 26 से ज्यादा स्कोर नहीं कर सका. आधी से ज्यादा टीम ताश के पत्ते की तरह ढह गई. कप्तान ने जरूर 26 रन की पारी खेली थी. लेकिन, इसे बड़े स्कोर में तब्दील नहीं कर सके और शाकिब अल हसन के हाथों रन आउट हो गए. उनका ये विकेट टीम के लिए ताफी ज्यादा महंगा साबित हुआ. इसके बाद खिलाड़ी क्रीज पर आते रहे और जाते रहे.

पावरप्ले में हैदराबाद संघर्ष करते हुए देखी गई और संघर्ष मैच के आखिरी ओवर तक जारी रहा. हालांकि गेंदबाजी के जरिए जरूर केन विलियमसन (Kane williamson) की टीम ने वापसी करने की कोशिश की और हद तक कामयाब भी रही. लेकिन, 12वें ओवर के बाद केकेआर के बल्लेबाजों को हाथ खोलने से नहीं रोक सकी. जिसके चलते टीम तो 6 विकेट से हार का सामना करना पड़ा. वहीं केकेआर मुश्किल समय में शुभमन गिल ने अच्छी शुरूआत दिलाई.

हार के बाद हैदराबाद के कप्तान कही बड़ी बात

photo 2021 10 03 23 48 13

कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ 6 विकेट से मिली इस करारी हार के बाद मैच प्रजेंटेशन में बातचीत करते हुए सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान Kane williamson कहा कि,

“इस विकेट पर कम से कम 150 का स्कोर ठीक-ठाक होता. कम स्कोर का बचाव करते हुए गेंदबाजी करना कठिन काम था. हम पूरे सीजन में सही स्कोर की पहचान नहीं कर पाए हैं. हमें ड्राइंग बोर्ड पर वापस जाने और चीजों का पुनर्मूल्यांकन करने की जरूरत है. हम कड़ी मेहनत कर रहे हैं. जब हम बल्ले से आखिरी 3-4 ओवरों तक पहुंचे तो हम 150 रन बनाना चाहते थे.

हम चाहते थे कि हमारी कुछ साझेदारियां हों. हालांकि हम सफल नहीं हुए और दुर्भाग्य से हम प्रतिस्पर्धी स्कोर से 10-15 रन कम रह गए थे. यह खेल का हिस्सा है. हम नेट्स में मलिक का सामना कर रहे हैं. वह बहुत तेज हैं. वह काफी खास खिलाड़ी हैं. जाहिर है कि हम टूर्नामेंट से बाहर हैं. इसलिए कुछ और खिलाड़ियों को भी मैदान में उतरने का ये अच्छा मौका है”.