आईपीएल में कोलकाता नाईट राइडर्स का वर्चस्व हमेशा से रहा है. इस टीम को कभी भी नज़र अंदाज़ नहीं किया जा सकता. इस सीजन शुरुआती दो मुकाबले में इस टीम ने यह बात साबित कर दी. खैर यह बात अलग है कि चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ दुसरे मुकाबले में 203 रनों का पहाड़ जैसा लक्ष्य खड़ा करने के बाद भी इस टीम को हार का सामना करना पड़ा.

अगर आप इतना बढ़ा लक्ष्य खड़ा कर मैच हार जाते हैं तो निश्चित तौर पर आपके गेंदबाजों ने अच्छा काम नहीं किया होगा. इस मैच में भी ऐसा ही कुछ हुआ. बल्लेबाजों के किये धरे पर गेंदबाजों ने पानी फेर दिया. हालांकि इस टीम की लिस्ट उठा कर देखने तो यह बेहद संतुलित टीम नज़र आती है.
अब कोलकाता नाइट राइडर्स का तीसरा मुकाबला शनिवार को सनराइजर्स हैदराबाद से खेला जाना है. इस मैच में जहां कोलकाता फिर जीत की पटरी पर लौटना चाहेगी वहीं हैदराबाद अपना जीत का लय बरक़रार रखना चाहेगी. ऐसे में बहुत हद तक उम्मीद है कि मुकाबला दिलचस्प होगा. जिस तरह से चेन्नई के खिलाफ केकेआर के गेंदबाजों का प्रदर्शन रहा उससे कप्तान कार्तिक की चिंताएं जरूर बढ़ी होंगी.
चेन्नई के खिलाफ शुरू से लेकर अंत तक कोलकाता के गेंदबाज सही ट्रैक पर नहीं आ सके. शुरुआत में शेन वॉटसन ने जमकर धुनाई की वहीं अंत में बिलैंग्स ने जमकर खैर लिया. खास कर टीम के जिम्मेदार गेंदबाज विनय कुमार की चेन्नई के बल्लेबाजों ने जमकर खबर ली. उन्होंने अपने अंतिम ओवर में 17 रन लुटाएं. जिसके बाद टीम के गेंदबाजी कोच ने भी इशारा कर दिया है कि अगले मैच की गेंदबाजी लाइनअप में बदलाव हो सकता है. खतरे की घंटी अगले मैच के लिए विनय कुमार पर ही लटकती दिख रही है.
कोलकाता के गेंदबाजी कोच हीथ स्ट्रेक ने संकेत दिया है कि उनके खेलने वाले इलेवन में बदलाव आएंगे. उम्मीद यह भी है कि मिशेल जॉनसन को हैदराबाद के खिलाफ उतारा जा सकता है. जो पिछले मैच में मौजूद नहीं थे. वहीं अंडर-19 के दो युवा प्रतिभा अभी भी इस टीम की बेंच स्ट्रेंथ बने हुए हैं. जी हां, हम बात कर रहे हैं शिवम मावी और कमलेश नागरकोटी की. इन दोनों में से किसी को मौका मिले तो हैरानी नहीं होनी चाहिए.

Anurag Singh

लिखने, पढ़ने, सिखने का कीड़ा. Journalist, Writer, Blogger,

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *