Joe Root

इंग्लैंड क्रिकेट टीम के टेस्ट कप्तान जो रूट (Joe Root) मौजूदा समय के दिग्गज खिलाड़ियों में गिने जाते हैं। मगर वह काफी वक्त से देश की टी20 टीम से बाहर चल रहे हैं। लेकिन इस बीच जो रूट ने टी20 विश्व कप में खेलने की इच्छा जाहिर की है। हालांकि उन्हें आईसीसी इवेंट में मौका मिलने के बहुत कम चांसेस हैं। रूट ने आखिरी बार 2019 में एक टी20 इंटरनेशनल मैच खेला था और उनकी अनुपस्थिति में इंग्लैंड टी20 रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंच गया है।

Joe Root ने जताई टी20 विश्व कप खेलने की इच्छा

Joe Root

इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान Joe Root को अभी भी उम्मीद हैं कि उन्हें टी20 विश्व कप में खेलने का मौका मिल सकता है। जबकि इंग्लैंड विवादित रोटेशन व रेस्ट पॉलिसी के साथ काम कर रहा है। श्रीलंका के खिलाफ पहले एकदिवसीय मैच में Joe Root ने 87 गेंदों पर 79 रनों की पारी खेलकर अपनी टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई। इसके बाद जब रूट से टी20 विश्व कप में हिस्सा लेने के बारे में पूछा गया, तो रूट ने सकारात्मक प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा,

 “बेशक। हर खिलाड़ी उस टीम का हिस्सा बनना चाहता है।”

चयनकर्ता चुनेंगे सर्वश्रेष्ठ टीम

2019 के बाद से Joe Root ने टी20 क्रिकेट नहीं खेला है। अब यूएई व ओमान में 17 अक्टूबर से शुरु हो रहे टी20 विश्व कप में खेलने के लिए वह उत्साहित नजर आ रहे हैं। ओवल में श्रीलंका के खिलाफ गुरुवार को होने वाले दूसरे वनडे से पहले उन्होंने कहा,

“मैं सभी फॉर्मेट में जितना हो सके इंग्लैंड के लिए खेलने के लिए बेताब हूं। एक तरह से यह एक बातचीत नहीं है जो मुझे (चयनकर्ताओं के साथ) करने की आवश्यकता है। यह उनका फैसला है और मुझे यकीन है कि वे उस टीम को चुनेंगे जो उन्हें लगता है कि टूर्नामेंट जीतेगी। मैं बस इतना कर सकता हूं कि मैं अपना पक्ष रखूं।”

रोटेशन पॉलिसी से आगे बढ़ना चाहते हैं रूट

joe root

Joe Root इंग्लैंड की टीम लगातार अपने पिछले 4 टेस्ट मैच गंवा चुकी है। पहले भारत दौरे पर इंग्लिश टीम को 1-3 से हार का सामना करना पड़ा था और फिर न्यूजीलैंड ने घर पर इंग्लैंड को सीरीज में 0-1 से हराया। इस दौरान जो रूट अपनी फुल स्ट्रेंथ वाली टीम के साथ नहीं उतर सके थे। मगर अब उन्होंने उम्मीद जताई है कि भारत के खिलाफ उनके यदि सारे खिलाड़ी फिट व उपलब्ध रहते हैं, तो अपनी सर्वश्रेष्ठ टीम के साथ उतरना चाहेंगे।

“हम ऐसे समय में आ गए हैं, जहां आराम और रोटेशन की नीति को पीछे छोड़ना होगा। उम्मीद करते हैं कि अगर सभी फिट हुए तो हम अपनी सर्वश्रेष्ठ उपलब्ध टीम उतारेंगे। यह काफी रोमांचक होगा और मैं इसे लेकर उत्सुक हूं। हमें दो शानदार प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ 10 बेहद कड़े टेस्ट खेलने हैं, लेकिन यह हमारे पास दमदार क्रिकेट खेलने का शानदार मौका है और अगर सभी फिट और उपलब्ध टीम उतारेंगे। यह काफी रोमांचक होगा और मैं इसे लेकर उत्सुक हूं।”