jharkhand 1

Jharkhand ने दिल्ली के खिलाफ रणजी ट्रॉफी के ग्रुप-एच मुकाबले में अपनी स्थिति मजबूत कर ली है। विराट सिंह की अगुवाई में झारखंड (Jharkhand) ने तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक 5 विकेट के नुकसान पर 288 रन बनाए। इसके साथ ही उन्होंने कुल 315 रन की बढ़त बना ली। उनके अलावा सलामी बल्लेबाज नाजिम सिद्दिकी ने भी शतकीय पारी खेली और 110 रन बनाए। झारखंड (Jharkhand) से हार के साथ ही दिल्ली का रणजी ट्रॉफी के नॉकआउट स्टेज तक पहुंचना लगभग नामुमकिन हो गया है।

ऐसा रहा झारखंड (Jharkhand) का खेल

jharkhand

विराट सिंह की अगुवाई में झारखंड (Jharkhand) ने तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक 5 विकेट के नुकसान पर 288 रन बनाए।  इसके साथ ही उन्होंने कुल 315 रन की बढ़त बना ली है।  स्टंप्स के समय कुमार सूरज 129 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद थे। उनके अलावा सलामी बल्लेबाज नाजिम सिद्दिकी ने भी शतकीय पारी खेली और 110 रन बनाए। अनुभवी इशांत शर्मा और युवा तेज गेंदबाज नवदीप सैनी समेत दिल्ली के गेंदबाज अपनी लय में नहीं दिखे।

अनुभवी तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा ने अपने पहले स्पेल में एक विकेट लिया लेकिन 9 ओवर में मजबूत नहीं दिखे। जिसके बाद झारखंड (Jharkhand) ने दिल्ली को मैच से बाहर करने की कगार पर पहुंचा दिया। झारखंड ने लगभग 3 अंक तय कर लिए हैं। टीम संभवत: अंतिम दिन एक घंटा और बल्लेबाजी करेगी ताकि दिल्ली का महज 5 घंटे में लक्ष्य का पीछा करने का कोई मौका हाथ से निकल जाए।

झारखंड(Jharkhand) ने किया दिल्ली को बाहर

झारखंड के खिलाफ मैच के चौथे और आखिरी दिन दिल्ली की टीम ने आखिरी घंटे की शुरुआत से पहले जीत की तैयारी कर ली थी। दिल्ली ने पांच विकेट पर 289 रन बनाए। दिल्ली के हाथ में पांच विकेट थे। उन्हे 46 रनों का लक्ष्य प्राप्त करना था। लेकिन यहीं से पासा पलट गया।

खतरनाक दिखने वाले जोंटी सिद्धू को शाहबाज नदीम ने आउट किया। इसके बाद बाकी के बल्लेबाज भी जरूरी रन नहीं बना सके। कप्तान प्रदीप सांगवान (24) ने कोशिश की लेकिन बड़ा शॉट मारने की कोशिश में आखिरी विकेट के रूप में वह स्टंपिंग का शिकार हो गए। यह कामयाबी अनुकूल रॉय को मिली।