jay shah 1575200077

गुजरात के स्थानीय निकाल चुनाव कुछ ही दिनों में शुरु होने वाले हैं। लेकिन गुजरात बीजेपी प्रमुख ने इस बात की घोषणा कर दी है कि 60 साल से अधिक आयु के लोगों, नेताओं के रिश्तेदारों और जो लोग पहले से ही कॉर्पोरेशन में तीन कार्यकाल पूरा कर चुके हैं, उन्हें इस बार टिकट नहीं दिया जाएगा। इसी के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भतीजी को भी टिकट देने से मना कर दिया गया है। इसपर पीएम के भाई प्रहलाद मोदी ने जय शाह के बीसीसीआई सचिव होने पर सवाल उठाए हैं।

पीएम के भाई ने उठाया जय शाह को लेकर सवाल

प्रधानमंत्री

अक्टूबर 2019 में भारत के गृहमंत्री अमित शाह के बेटे जय शाह को भारतीय क्रिकेट बोर्ड का सचिव बनाया गया था। तब से वह इस पद पर बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली व कोषाध्यक्ष अरुण धूमल के साथ काम कर रहे हैं। मगर अब जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भतीजी को चुनाव के लिए टिकट नहीं मिला, तो पीएम के भाई ने अमित शाह के बेटे जय शाह के सचिव होने पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा,

“अगर राजनाथ सिंह के बेटे सांसद बन सकते हैं, अगर मध्य प्रदेश के वर्गीस जी के बेटे विधायक हो सकते हैं और अगर गृहमंत्री के बेटे जय, जिनका क्रिकेट में कोई महत्वपूर्ण योगदान नहीं है (कम से कम मेरी जानकारी में) और ना ही मैंने उनकी इस क्षेत्र में किसी उपलब्धि के ही बारे में पढ़ा है, बावजूद इसके उन्हें क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की ज़िम्मेदारी दी गई है।”

उनके पास नहीं है कोई डिग्री

जय शाह लगभग दो सालों से बीसीसीआई के सचिव पद पर तैनात हैं। हाल ही में उन्हें एशियाई क्रिकेट परिषद का प्रेसिडेंट भी बनाया गया है।

“उनके पास क्या कोई डिग्री है कि वो सरकार के लिए उपयोगी हैं? और बीजेपी समेत दूसरे पक्षों से उन्हें लगातार सपोर्ट मिल रहा है। और अगर वो क्रिकेट बोर्ड के सचिव बन सकते हैं तो पार्टी दो सामानांतर तरीक़ों से काम कर रही है।”

क्यों नहीं मिला पीएम की भतीजी को टिकट?

प्रधानमंत्री

गुजरात में दो चरणों में स्थानीय निकाय चुनाव होने हैं. 21 फ़रवरी और 28 फ़रवरी को दो चरणों में स्थानीय निकाय चुनाव होंगे। गुजरात बीजेपी प्रमुख सीआर पाटिल ने हाल ही में उम्मीदवारों के लिए नए नियमों की घोषण करते हुए कहा कि 60 साल से अधिक आयु के लोगों, नेताओं के रिश्तेदारों और जो लोग पहले से ही कॉर्पोरेशन में तीन कार्यकाल पूरा कर चुके हैं, उन्हें इस बार टिकट नहीं दिया जाएगा। इसके बाद ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाई प्रहलाद मोदी ने विवादित बयान दिए।