जसप्रीत बुमराह

जसप्रीत बुमराह भारतीय क्रिकेट टीम के लिए किसी कोहिनूर से कम नहीं हैं। बुमराह टीम को मुश्किल परिस्थितियों से निकालकर जीत दिलाने में माहिर गेंदबाज़ हैं। दुनिया के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज का भारत में होना हमारे लिए खुशकिस्मती है। वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज के बाद बुमराह को अब 2 अक्टूबर से साउथ अफ्रीका में शुरू हो रहे टी 20 मैच में टीम के साथ जुड़ना है। लेकिन इस पर पूर्व तेज गेंदबाज चेतन शर्मा ने बुमराह को आराम देने की बात कही है…

घरेलू सरजमीं पर बुमराह को नहीं करना चाहिए टेस्ट

जसप्रीत बुमराह

आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के अंतर्गत टीम इंडिया को घरेलू टेस्ट सीरीज खेलनी हैं। पहले साउथ अफ्रीका फिर बांग्लादेश के साथ। इसपर चेतन शर्मा ने हिंदुस्तान टाइम्स से बात करते हुए कहा,

“मुझे लगता है कि जसप्रीत बुमराह को घरेलू सीरीज में आराम दिया जाना चाहिए। हमें उनके जैसी प्रतिभा को बर्बाद नहीं करना चाहिए। दुनिया में अब वह सबसे अच्छा गेंदबाज हैं, इस कारण से हमें इन परिस्थितियों में उसका टेस्ट नहीं करना चाहिए।”

“विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप चल रही है और बुमराह भारत की योजनाओं के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। दुनिया को यह साबित करने की जरूरत नहीं है कि बुमराह भारतीय पिचों पर विकेट ले सकते हैं। अभी हमें जीत हासिल करने और अंक हासिल करने की आवश्यकता है।”

स्पिनर्स को देना चाहिए घरेलू सीरीज में मौका

ashwin kuldeep and jadeja 1532752524

चेतन शर्मा ने भारतीय क्रिकेट टीम के चयनकर्ताओं को जसप्रीत बुमराह पर अधिक मैच खेलने देने का प्रेशर नहीं डालना चाहिए। उन्होंने कहा,

“टीम मैनेजमेंट को कंडीशंस का सपोर्ट करना चाहिए। घरेलू सीरीज में स्पिनरों को खिलना चाहिए और बुमराह को आराम देना चाहिए। अंत में भारत को मैच जीतने से मतलब है। इससे फर्क नहीं पड़ता की अश्विन विकेट लेते हैं या कुलदीप या फिर बुमराह।”

जसप्रीत बुमराह पर अधिक दबाव क्यों डालें?

kohli pacers 1476628667 800

“टीम इंडिया का वक्त बदल चुका है। अब वह टाइम नहीं है कि हम सिर्फ कपिल देव यानि किसी एक खिलाड़ी पर निर्भर रहे। इंडिया के पास सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी लाइन-अप है। हमारे पास भुवनेश्वर, शमी, ईशांत, नवदीप भी हैं, इसलिए उन्हें मौका दें, अकेले बुमराह पर ही दबाव क्यों डालें? बुमराह को केवल तभी बुलाया जाना चाहिए जब यह बहुत जरूरी हो।”

“उनके पास हर ट्रैक पर विकेट लेने की शानदार प्रतिभा है, लेकिन मुझे बस इस बात की फिक्र है कि वह तेज गेंदबाज हैं और कहीं कभी गेंदबाजी करते हुए उन्हें किसी चोट से दो चार न होना पड़े।”

असल में भारत के पास एक लंबा घरेलू सीजन है जिसमें साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीन टेस्ट और बांग्लादेश के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की सीरीज शामिल हैं और यह दोनों ही विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का हिस्सा हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *