James-Anderson-and-Jasprit-Bumrah

भारत और इंग्लैंड के बीच पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला का दूसरा मैच यादगार बन गया था। लॉर्ड्स में खेले गए इस मैच के तीसरे दिन भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) और इंग्लैंड के गेंदबाज जेम्स एंडरसन (James Anderson) के बीच बहस हो गई थी। इस समय बुमराह गेंदबाजी कर रहे थे और एंडरसन बल्लेबाजी कर रहे थे। उस वक्त ऐसा लगा कि जैसे जसप्रीत, जेम्स पर बार-बार गेंद से प्रहार कर रहे हैं। उनकी इस गेंदबाजी से एंडरसन नाखुश दिख रहे थे और उनके बीच कुछ बातें भी हुई थीं।

बल्लेबाज को चोट पहुंचाने का नहीं होता प्रयास : Jasprit Bumrah

Jasprit Bumrah

लॉर्ड्स में घटित वाक्ये के बारे में तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) ने स्काई स्पोर्ट्स के लिए इंटरव्यू दे रहे दिनेश कार्तिक से बात करते हुए कहा कि,

” मैं ज्यादा डीप में नहीं जाना चाहता। लेकिन, जब हम खेल खेलते हैं, तो हमारा इरादा बल्लेबाज को वास्तव में चोट पहुंचाने या बल्लेबाज को मारने का नहीं होता है। हमारी बस निचले क्रम को आउट करने की रणनीति थी क्योंकि जब हम ऑस्ट्रेलिया या दक्षिण अफ्रीका जाते हैं तो ऐसा ही होता है। इसके लिए यही सही था। लेकिन, जैसे ही दिन ढल रहा था कुछ शब्दों का आदान-प्रदान हुआ जो वास्तव में सुखद नहीं थे। मैंने उस समय नहीं सुना क्योंकि मैं वास्तव में थक गया था लेकिन मेरे सभी साथियों ने सुना और आमतौर पर मैं एक ऐसा व्यक्ति हूं जो वैसे तो कुछ नहीं कहता, लेकिन जरूरत पड़ने पर भड़क जाता है। लेकिन जब मैंने सुना कि क्या कहा गया था, तो मैं सचमुच क्रोधित हो गया।”

कोहली के पसंदीदा बन चुके हैं हैं Jasprit Bumrah

jaspreet bumrah

भारतीय तेज गेंदबाजों में Jasprit Bumrah बहुत ही तेजी से विश्व क्रिकेट में अपनी पहचान बना रहे हैं। क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में वो टीम का मुख्य हिस्सा बन चुके हैं। अब वो कप्तान कोहली के सबसे खास और पसंदीदा गेंदबाज बन चुके हैं। ऐसे में बुमराह का कहना है कि,

” तेज गेंदबाजी पूरे साल का काम है, यह ऐसी चीज नहीं है जहां आप आकर प्रदर्शन करते हैं और सब सही हो जाता है। बल्लेबाज बहुत कुछ कर सकते हैं, उन्हें कंधे में दर्द है, घुटने में दर्द है, कोई फर्क नहीं पड़ता, उन्हें सिर्फ स्लिप में खड़ा होना है और ताली बजानी है। मैं एक गेंदबाज हूं और तेज गेंदबाजी का भी प्रशंसक भी हूं। मुझे लगता है कि गेंदबाज कठिन काम करते हैं और अगर आपको खिताब जीतना है तो गेंदबाजों को इसमें प्रमुख भूमिका निभाने की जरूरत है। जाहिर है, बल्लेबाज भी मुख्य भूमिका निभाते हैं लेकिन मैं गेंदबाजों के प्रति थोड़ा पक्षपाती हूं।”