IRE vs AFG

रहमानुल्ला गुरबाज और नवीन-उल-हक ने बेलफास्ट में  अफगानिस्तान और आयरलैंड (IRE vs AFG) के बीच खेली जा रही पांच मैचों की टी20 सीरीज के तीसरे मुकाबले (IRE vs AFG) में भी बेहद ही शानदार प्रदर्शन दिखाया। इन दोनों के दमदार प्रदर्शन के बदौलत ही टीम सीरीज में वापसी कर पाई है।

पहले दो मुकाबले हारने के बाद, मेहमान टीम ने तीसरे मैच में 22 रनों की आसान जीत हासिल कर अपने हार की संभावना को 2-1 से कम कर दिया। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने आई अफगानिस्तान टीम ने 189 बनाए, जवाब में आयरलैंड टीम निर्धारित ओवरों में 167 रन बनाने में ही सफल रही।

IRE vs AFG: रहमानुल्ला गुरबाज रहे अफगानिस्तान की जीत के हीरो

IRE vs AFG

आयरलैंड (IRE vs AFG) ने टॉस जीता और अफगानिस्तान को बल्लेबाजी करने के लिए न्योता दिया। पहले बल्लेबाजी (IRE vs AFG) करने के लिए उतरी मेहमान टीम ने पहले विकेट के लिए 90 रनों की मजबूत साझेदारी की, जिसमें रहमानुल्ला गुरबाज ने शानदार अर्धशतक बनाया। वहीं, जहां हजरतुल्लाह जजई से बड़ी पारी की उम्मीद की जा रही थी, वह 39 रन पर आउट हो गए। हालांकि इब्राहिम जदरान और नजीबुल्लाह जदरान की जोड़ी ने टीम के स्कोर बोर्ड को 180 के पार लगाया।

इब्राहिम ने 22 गेंदों में 36 रन बनाए, जबकि नजीबुल्लाह ने सिर्फ 18 गेंदों में 42 रन बनाए, जिसमें पांच छक्के शामिल थे। ऐसे में अफगानिस्तान टीम ने 189 रन बनाए। जोश लिटिल को छोड़कर आयरिश गेंदबाजों के अलावा और किसी गेंदबाज का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा। ग्राहम ह्यूम, मार्क अडायर और कर्टिस कैंपर ने एक ओवर में 10 से अधिक रन दिए।

ऐसी थी आयरलैंड की पारी

IRE vs AFG

 

जीत के लिए 190 रनों का पीछा करते हुए, आयरलैंड की टीम शुरुआत से आउट ऑफ फॉर्म रही। जहां टीम के गेंदबाज बुरी तरह फ्लॉप हुए, वहीं सलामी जोड़ी भी टीम को अच्छी शुरुआत नहीं दिलवा पाई। टीम के सलामी बल्लेबाज पॉल स्टर्लिंग (0) और एंडी बालबर्नी (1) रन बनाकर पवेलियन लौट गए। मेजबान टीम जल्द ही 7/85 पर सिमट गया, जिसके बाद टीम को सात ओवरों में 100 से अधिक की आवश्यकता थी।

हालांकि, जॉर्ज डॉकरेल और फिओन हैंड ने आठवें विकेट के लिए शानदार साझेदारी कर आयरलैंड की सीरीज जीत की उम्मीदें बरकरार रखी हैं। हैंड ने 18 गेंदों में 36 रन बनाए, जबकि डॉकरेल 58 रन बनाकर नाबाद रहे, लेकिन मेजबान टीम के लिए इस लक्ष्य का पीछा करना बहुत कठिन साबित हुआ। अफगानिस्तान के लिए नवीन-उल-हक ने तीन विकेट लिए, जबकि फजलहक फारूकी और मुजीब उर रहमान ने भी दो-दो विकेट लिए।