आईपीएल
Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

आईपीएल 2021 के लिए नीलामी की तैयारी जोरों से हो रही है, इस बीच एक फिर अर्जुन तेंदुलकर सुर्खियों में आ गए हैं. 18 फरवरी को मिनी ऑक्शन आयोजित किया जाएगा. ऐसे में अब सभी फ्रेंचाइजियां भी नीलामी को लेकर पूरी तरह से तैयार हो गई हैं. इस बार ऑक्शन में टीमें अलग-अलग खिलाड़ियों पर दांव लगाएंगी. ये दांव युवा खिलाड़ियों का आगे भविष्य तय करेगा.

भविष्य इसलिए, क्योंकि आईपीएल एक ऐसा प्लेटफॉर्म है, जो कई खिलाड़ियों की जिंदगी बना चुका है. ऐसे में किस खिलाड़ी का भाग्य कहां तक साथ देता है, ये तो इस बार की नीलामी में तय हो जाएगा. ऐसे में बात करें पूर्व दिग्गज खिलाड़ी और महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के बेटे की, तो अर्जुन तेंदुलकर भी क्रिकेट में अपने करियर की शुरुआत कर चुके हैं. इस लेख में हम बात करेंगे उन 3 कारणों की जिसकी वजह से उन्हें आईपीएल की टीमों को जरूर खेलना चाहिए.

टीम की बढ़ेगी ब्रैंड वैल्यू

आईपीएल

अर्जुन तेंदुलकर एक मानी-जनी हस्ती के बेटे हैं, इससे हर कोई वाकिफ है. लेकिन अब आप सोच रहे होंगे कि उन्हें क्यों कोई खरीदना चाहेगी, और ऐसा करने से टीम को क्या लाभ होगा तो, सबसे बड़ा फायदा ये होगा कि,  आईपीएल में जो भी टीम उन पर दांव खेलेगी, उसकी ब्रैंड वैल्यू बढ़ेगी.

हाल ही में अर्जुन को सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में मुंबई की तरफ से खेलने का मौका मिला था. उन्होंने 2 मुकाबलों में खेलते कुछ खास प्रदर्शन नहीं किया था. लेकिन एक बड़ा नाम होने के चलते इंडियन प्रीमियर लीग की कोई भी टीम उन पर दांव आजमा सकती है.

यदि कोई भी टीम जूनियर तेंदुलकर को अपनी टीम में मौका देती है, तो उसके पास अपनी ब्रैंड वैल्यू बढ़ाने का एक अच्छा मौका होगा. क्योंकि इस बार आईपीएल का आयोजन भारत में हो रहा है, ऐसे में लोगों का ध्यान खींचने के लिए पहले फ्रेंचाइजियां ब्रैंड्स पर नीलामी में ध्यान देना चाहेंगी. ये बड़ी वजह है कि अर्जुन तेंदुलकर को अपनी टीम में लेना फ्रेंचाइजी के लिए सही साबित हो सकता है.

Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse