Sourav Ganguly

भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बीच बीसीसीआई ने IPL 2021 को बायो बबल के सिक्योर वातावरण में आयोजित किया था। लेकिन 29 मुकाबलों के बाद बायो बबल टूट गया और एक के बाद एक कोविड पॉजिटिव मामले सामने आए, जिसके चलते बोर्ड को टूर्नामेंट को स्थगित करने का बड़ा फैसला लेना पड़ा। तो अब सवाल उठता है कि आखिर बोर्ड से चूक कहां हुई, जिसके चलते बायो बबल ब्रेक हो गया।

BCCI से हुईं ये बड़ी चूक

ipl 2021

IPL 2021 के स्थगित होने के चलते फैंस मायूस हैं और भारतीय क्रिकेट बोर्ड को भी भारी नुकसान से गुजरना पड़ रहा है। ऐसे में सवाल उठता है कि बायो बबल के भीतर आखिर बीसीसीआई से क्या चूक हो गईं, जिसके चलते सुरक्षित माहौल में मौजूद खिलाड़ी व सपोर्ट स्टाफ कोरोना की चपेट में आ गए। टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार,

“चेक इन से पहले होटल के स्टाफ को क्वारेंटीन नहीं किया गया था, ग्राउंड स्टाफ को बायो बबल के अंदर नहीं रखा गया था, कुछ कमेंटेटर्स को एक शहर से दूसरे शहर की यात्रा करने के लिए इकोनॉमी क्लास से सफर किया, बीसीसीआई ने सुरक्षा के लिए किसी आईटी व सेफ्टी संपनी को हायर नहीं किया था, जैसे आईपीएल 2020 में किया गया था।”

IPL 2020 को कोविड में ही किया गया था आयोजित

IPL 2021-BCCI

कोरोना वायरस ने पिछले साल ही भारत में अपना आतंक मचाना शुरु कर दिया था। जिसके चलते बीसीसीआई ने IPL 2020 को यूएई में आयोजित किया था। जहां, पूरे टूर्नामेंट को अबु धाबी, शारजाह व दुबई में ही खेला गया था। एक बात जो ध्यान देने वाली है कि पिछली बार टूर्नामेंट के मुकाबलों के दौरान किसी भी खिलाड़ी को हवाई यात्रा नहीं करनी पड़ी थी, जिससे कोविड फैलने के चांसेस कम थे और टूर्नामेंट को सफलतापूर्व आयोजित किया जा सका।

वहीं इस बार IPL 2021 के मैचों का आयोजन अलग-अलग शहरों में हो रहा था, जिसके चलते खिलाड़ियों को एक शहर से दूसरे शहर की हवाई यात्रा करनी पड़ी। अंतत: बायो बबल के ब्रेक होने के चलते बीसीसीआई को टूर्नामेंट को स्थगित करने का फैसला लेना पड़ा।