BCCI

IPL 2021 के बचे हुए मैच यूएई में खेले जाएंगे, इस बात की पुष्टि BCCI कर चुकी है। हालांकि बोर्ड के लिए अब बचे हुए 31 मैचों को आयोजित करना आसान नहीं होने वाला है। पिछले कुछ वक्त से लगातार विदेशी खिलाड़ियों की उपलब्धता पर चर्चा चल रही है। जिसके चलते काफी टेंशन का माहौल बना हुआ है। मगर अब बीसीसीआई उपाध्यक्ष द्वारा ये बयान जारी कर दिया गया है कि चाहें विदेशी खिलाड़ी आएं या ना आएं आईपीएल 2021 का आयोजन होगा।

विदेशी खिलाड़ियों के ना आने से BCCI को नहीं पड़ता फर्क

bcci

IPL 2021 के बचे हुए 31 मैच खेलने के लिए कई देशों के खिलाड़ी नहीं आ सकेंगे। इस बात को लेकर काफी चर्चा चल रही है।  खलीज टाइम्स के साथ खास बातचीत में राजीव शुक्ला ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि विदेशी खिलाड़ी यदि नहीं आते हैं, तो भी टूर्नामेंट का आयोजन होगा। उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला ने कहा,

“हमने विदेशी खिलाड़ियों के मुद्दे पर चर्चा की। हमारा एकलौता लक्ष्य इस सीजन को पूरा करना है. इसे बीच में ही नहीं छोड़ा जा सकता। इसलिए जो भी खिलाड़ी उपलब्ध होगा अच्छी बात है। जो उपलब्ध नहीं होगा तो ये मुद्दा हमें टूर्नामेंट आयोजित करने से नहीं रोक सकता।”

टूर्नामेंट को करेंगे पूरा

इंग्लैंड, न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड ने पहले ही खिलाड़ियों को भेजने से इनकार किया है। वहीं वेस्टइंडीज के खिलाड़ी CPL के चलते अनुपलब्ध हो सकते हैं। ऐसे में BCCI का कहना है कि बोर्ड तो टूर्नामेंट को पूरा करेगा। राजीव शुक्ला ने आगे कहा,

“कुछ विदेशी खिलाड़ी उपलब्ध नहीं होंगे लेकिन हम अपना टूर्नामेंट तो पूरा करेंगे। आईपीएल टीमें दूसरे खिलाड़ियों की ओर देखेंगी। जो भी उपलब्ध होगा उसके साथ ही टूर्नामेंट आयोजित होगा, ये ही हमारी नीति है।”

यूएई है सबसे उपयुक्त जगह

BCCI

पिछले दिनों खबरें आ रही थीं कि इंग्लैंड दौरे के बाद BCCI आईपीएल 2021 के बचे हुए 31 मैचों को इंग्लैंड में ही आयोजित करने पर विचार कर रही है क्योंकि कुछ काउंटी क्लब ने इसकी मेजबानी की पेशकश भी की थी। मगर राजीव शुक्ला ने बताया कि वहां बारिश के कारण इस फैसले को आगे नहीं बढ़ाया गया। उन्होंने आगे कहा,

“ऐसी खबरें चल रही थी कि बचे हुए मैच इंग्लैंड में होंगे लेकिन वहां बारिश ज्यादा होती है। फिर हमें 20 दिन के अंदर टूर्नामेंट खत्म करना है क्योंकि टी20 वर्ल्ड कप भी है इसलिए हमारे लिए यूएई सबसे उपयुक्त जगह थी।”