आईपीएल
Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

आईपीएल 2021 की शुरूआत होने में तकरीबन डेढ से 2 महीने का वक्त बाकी है, लेकिन उससे पहले ही रिटेन और रिलीज खिलाड़ियों की लिस्ट जारी हो गई है. 18 फरवरी को इंडियन प्रीमियर लीग से जुड़ा मिनी ऑक्शन आयोजित किया जाएगा, जिसमें खिलाड़ियों की नीलामी लगेगी, ऐसे में अब जैसे-जैसे ऑक्शन की तारीख नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे फ्रेंचाजियों से ज्यादा फैंस भी काफी एक्साइटेड नजर आ रहे हैं.

आईपीएल से जुड़ी 8 फ्रेंचाजियों के बारे में बात करें तो ज्यादातर टीमों के मालिक अपने टीम से जुड़े हर फैसले में दखलअंदाजी करते हैं, लेकिन वहीं दूसरी तरफ कुछ टीमों के मालिक ऐसे भी हैं, जो सिर्फ खिलाड़ियों को खरीदने के मामले में अपनी मैजूगी दिखाते हैं. इस रिपोर्ट में आज हम उन्हें 3 फ्रेंचाजियों की बात करेंगे… जिनके मालिक किसी भी फैसले में अपनी राय देने से दूर ही रहते हैं.

चेन्नई सुपर किंग्स

आईपीएल

इस लिस्ट में सबसे पहले बात करते हैं चेन्नई सुपर किंग्स की, जिनके मालिक एन श्रीनिवासन हैं. जो बीते साल अपने बयानों के चलते लगातार चर्चाओं में बने हुए थे. इस टीम के कप्तान भारतीय टीम के पूर्व कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी है. जिनकी मेजबानी में 3 बार (2010, 11 और 18 में) टीम चैंपियन बन चुकी है.

एन श्रीनिवासन ऐसे ऑनर की लिस्ट में आते हैं, जो आईपीएल की नीलामी के दौरान ही सिर्फ हस्तक्षेप करते हैं. इसके बाद वो कप्तान को इस टीम से जुड़े बाकी फैसलों में पूरी छूट देते हैं, और किसी भी तरह का हस्तक्षेप नहीं करते हैं. टूर्नामेंट के दौरान प्लेइंग 11 का हिस्सा कौन होगा कौन बेंच पर बैठेगा, ये फैसला भी धोनी ही करते हैं.

जबकि किंग्स इलेवन पंजाब जैसी टीमों की बात करें तो, इस फ्रेंचाइजी की ऑनर एक्ट्रेस प्रीति जिंटा टीम के हर निर्णय में दखलअंदाजी करती हुई देखी जाती हैं. जबकि धोनी सीएसके से जुड़े सारे फैसले खुद करते हैं और उन्हें एन श्रीनिवासन पूरी छूट भी देते हैं. उनकी कप्तानी में 3 बार सीएसके इंडियन प्रीमियर लीग का खिताब जीती है.

Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse