केएल राहुल

सनराइजर्स हैदराबाद के साथ खेले गए टूर्नामेंट के 22वें मैच में केएल राहुल की कप्तानी वाली टीम किंग्स इलेवन पंजाब को शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा। इस मैच में पंजाब के टॉप ऑर्डर पावरप्ले में ही ढेर हो गया। इसके बाद निकोलस पूरन ने मैच को संभालने की कोशिश की, लेकिन वह भी अधिक देर तक टिक नहीं सके और 132 रन पर पूरी पंजाब की टीम पवेलियन लौट गई और हैदराबाद ने 69 रनों से मैच जीत लिया।

किंग्स इलेवन पंजाब ने 69 रनों से गंवाया मैच

केएल राहुल

सनराइजर्स हैदराबाद और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच खेले गए मैच में हैदराबाद की टीम ने एकतरफा जीत दर्ज की। इस मैच में हैदराबाद ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया और शानदार शुरुआत के साथ ही हैदराबाद ने 202 रनों का लक्ष्य निर्धारित किया।

जिसका पीछा करने उतरी पंजाब की टीम ने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए। हालांकि मध्य में कीरोन पोलार्ड ने पारी को संभालने का प्रयास किया, लेकिन दूसरे छोर से किसी खिलाड़ी का सपोर्ट ना मिलने के कारण पंजाब की टीम 132 रन पर 17वें ओवर में ही सिमट गई। पंजाब को 69 रनों के बड़े अंतर से टूर्नामेंट की पांचवी हार मिली।

शुरुआती विकेट गंवाने से हुई मुश्किल

किंग्स इलेवन पंजाब 202 रनों के बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम ने शुरुआत में ही अपने अहम विकेट गंवा दिए। पंजाब की निराशाजनक शुरुआत हुई और हार के साथ मैच का अंत हुआ। मैच खत्म होने के बाद कप्तान केएल राहुल ने कहा,

“मुझे लगता है कि जब हम पावरप्ले में विकेट गंवाते हैं, तो फिर मैच में जीत दर्ज करना मुश्किल हो जाता है और मयंक का रन आउट होना हमारे लिए सबसे बुरा था। हम उसके बाद विकेट खोते रहे और सभी हवाई शॉट फील्डरों के हाथों में चला गया। पिछले पांच मैचों में हम डेथ ओवरों में संघर्ष कर रहे थे, लेकिन हमने चीजों को वापस खींच लिया, बाकी 230 कार्ड पर था।”

रवि विश्नोई-निकोलस पूरन की तारीफ

RON 1358

टॉप ऑर्डर के फ्लॉप  होने के बाद निकोलस पूरन बल्लेबाजी के लिए आए। जहां, उन्होंने 37 गेंदों पर 77 रनों की आतिशी पारी खेली। लेकिन इसके बाद भी टीम को हार का सामना करना पड़ा, क्योंकि दूसरे बल्लेबाज पूरन का साथ नहीं दे सके। मैच खत्म होने के बाद कप्तान केएल राहुल ने पूरन और रवि विश्नोई की तारीफ करते हुए कहा,

“पूरन देखने में बहुत अच्छा है, वह उचित क्रिकेट शॉट्स मार रहा है। यदि हमें शुरू में ही अच्छी शुरुआत मिल जाए, तो वह बाद में हमारे लिए काम कर सकता है। रवि बिश्नोई हमेशा उन स्थितियों का आनंद लेता था, जो एक युवा खिलाड़ी के लिए बहुत अच्छी है। वे सभी प्रोफेशनल खिलाड़ी हैं, और वे जानते हैं कि वे कहां गलत हो रहे हैं। हर कोई कड़ी मेहनत कर रहा है और वे टीम के लिए योगदान देना चाहते हैं। उन्होंने खुद को अतीत में साबित कर दिया है, कभी-कभी यह बंद चीजे सही नहीं होती हैं, लेकिन आपको धैर्य रखना चाहिए।”