मुंबई इंडियंस

आईपीएल 2020 का पहला मुकाबला मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच बेहद रोमांचक रहा। मैच में महेंद्र सिंह धोनी की टीम ने 5 विकेट से मैच को अपने नाम करते हुए, जीत के साथ टूर्नामेंट में प्रवेश किया। लंबे वक्त बाद मैदान पर लौटे चेन्नई के खिलाड़ियों ने तूफानी बल्लेबाजी की और साथ ही गेंदबाजी करते हुए भी रोहित की टीम को मैदान पर पैर नहीं जमाने दिए।

डु प्लेसिस और रायडू जैसा नहीं कर सके हमारे बल्लेबाज

रोहित शर्मा

मुंबई-चेन्नई के बीच खेले गए पहले मुकाबले में चेन्नई की टीम ने टॉस जीतकर पहले फील्डिंग का फैसला किया। परिणामस्वरूप पहले बल्लेबाजी करने उतरी मुंबई की टीम ने 9 विकेट के नुकसान पर 163 रनों का लक्ष्य दिया। जिसके जवाब में चेन्नई की टीम ने 5 विकेट गंवाकर टार्गेट को अचीव कर लिया और 5 विकेट से शानदार जीत दर्ज की। पहले मैच में हार मिलने के बाद मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने कहा,

“बल्लेबाजों ने रनों की रफ्तार जारी नहीं रखी जिस तरह से डु प्लेसिस और रायडू ने उनके लिए रखी। इस मामले में हम फेल हुए। लेकिन इसका श्रेय चेन्नई के गेंदबाजों को भी जाता है, उन्होंने हमको हमेशा बांधे रखा। हमको उनसे ये सीखना होगा।”

बता दें, इस मैच में फाफ डु प्लेसिस ने 48 गेंदों पर 54 रन बनाए। वहीं अंबाती रायडू ने 48 गेंदों पर 71 रनों की तूफानी पारी खेली।

बिना दर्शकों के खेलना काफी अलग

कोरोना वायरस के चलते आईपीएल 2020 के मैचों में स्टेडियम में दर्शक नहीं रहेंगे। जहां, एक तरफ खिलाड़ियों को हजारों दर्शकों के सामने खेलने की आदत हो, ऐसे में खाली स्टेडियम में खेलना किसी के लिए भी आसान नहीं होगा। ग्राउंड पर दर्शकों के ना होने को लेकर रोहित शर्मा ने कहा,

“ये काफी अलग था लेकिन आईपीएल प्रबंधन ने शानदार काम किया है कि मैदान पर वैसी ही आवाजों का इंतजाम किया जिसकी हमको आदत है।”

पिच के हिसाब से ढ़लना होगा

रोहित शर्मा

रोहित शर्मा की टीम लगातार आठवीं बार टूर्नामेंट का पहला मैच गंवाने वाली टीम बन गई है। रोहित शर्मा की टीम में एक से बढ़कर एक मैच विनर खिलाड़ी हैं, लेकिन चेन्नई की टीम, जिसे शुरुआत में सुरेश रैना और हरभजन सिंह के जाने से कमजोर माना जा रहा था, उसने हिटमैन की सेना को 5 विकेट से मात देदी। इसमें यूएई की परिस्थितियों और पिचों का बड़ा योगदान रहा। मैच खत्म होने के बाद यूएई की पिचों पर बयान देते हुए रोहित बोले,

“हमको पिचों के हिसाब से खुद को ढालना और इनको समझना होगा। मैच जैसे-जैसे आगे बढ़ा पिच भी बेहतर होती गई ओस गिरने के साथ ही। ऐसा नहीं है कि हमने इससे पहले बड़े मैदानों में नहीं खेला है। हमको ये सुनिश्चित करना होगा कि हम गैप में गेंद मारें और सिंगल्स-डबल्स लेते रहें। यहां सिर्फ शॉट्स खेलना नहीं है, हमें समझते हुए खेलना होगा।”