धोनी

आईपीएल 2020 का 34वां मुकाबला दिल्ली कैपिटल्स और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच खेला गया। इस मैच में टॉस जीतकर चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। पहले बल्लेबाजी करते हुए चेन्नई ने 180 रनों का चुनौतीपूर्ण लक्ष्य भी खड़ा किया। मगर शानदार लय में चल रही दिल्ली कैपिटल्स ने लक्ष्य को सफलतापूर्वक हासिल किया और 5 विकेट से चेन्नई को मात दी।

क्यों दिया रविंद्र जडेजा को 20वां ओवर?

रविंद्र जडेजा

चेन्नई सुपर किंग्स ने बल्लेबाजी करते हुए 180 रन बोर्ड पर लगाए थे। ये रन बचाव करने के लिए अधिक मुश्किल नहीं थे। लेकिन चेन्नई ने आखिर के 20वें ओवर में मैच गंवाया, जब कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने ड्वेन ब्रावो की जगह रविंद्र जडेजा के हाथ में गेंद सौंपी। हर किसी को हैरानी हुई की माही ने ऐसा फैसला क्यों लिया। मैच खत्म होने के बाद महेंद्र सिंह धोनी ने पोस्ट मैच प्रेजेंटेशन में रविन्द्र जडेजा को 20वां ओवर दिए जाने का कारण बताते हुए कहा,

“ब्रावो फिट नहीं थे, वह बाहर गए और वास्तव में वापस आने में सक्षम नहीं थे। यही कारण था कि हमने 20वां ओवर रविन्द्र जडेजा से कराया। विकल्प कर्ण और जड्डू था, इसलिए मैं जड्डू के साथ आगे बढ़ गया।”

कई बार हुई शिखर धवन का कैच ड्रॉप

दिल्ली कैपिटल्स के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने चेन्नई के खिलाफ अपना पहला आईपीएल शतक बनाया और वह चेन्नई की हार की बड़ी वजह बने। पारी के दौरान कई बार चेन्नई के खिलाड़ियों ने धवन के कैच के मिले हुए मौकों को गंवाया। महेंद्र सिंह धोनी ने आगे अपने बयान में शिखर धवन की तारीफ करते हुए कहा,

“शिखर धवन का विकेट महत्वपूर्ण था, लेकिन हमने उनका कैच कई बार ड्रॉप किया। इसका खामियाजा भी हमें भुगतना पड़ा है, क्योंकि अगर वह क्रीज पर है, तो वह हमेशा अच्छा स्ट्राइक रेट बनाए रखेगा. मुझे लगा कि उनका विकेट निर्णायक था। पहली पारी और दूसरी पारी में वहीं अंतर थे।”

“दूसरी पारी में विकेट ने थोड़ा बेहतर व्यवहार किया, यह थोड़ा बेहतर हुआ जिसने बल्लेबाजों के लिए थोड़ा आसान बना दिया, लेकिन कुल मिलाकर, हमें शिखर धवन को भी श्रेय देना होगा। उन्होंने वास्तव में अच्छी बल्लेबाजी की और अन्य बल्लेबाजों द्वारा भी उन्हें वास्तव में अच्छी तरह से समर्थन किया गया।”

कम ओस ने कर दिया बल्लेबाजों का काम आसान

दिल्ली कैपिटल्स

चेन्नई ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया और 180 रनों का दिल्ली कैपिटल्स का चुनौतीपूर्ण लक्ष्य दिया था। मगर दूसरी पारी में दिल्ली के खिलाड़ियों को ओस की मदद मिली क्योंकि काफी कम ओस पड़ी थी।महेंद्र सिंह धोनी ने ओस के बारे में बात करते हुए अपने बयान में कहा,

“दूसरी पारी में बहुत ज्यादा ओस तो नहीं आई, लेकिन थोड़ा बहुत ओस आई, जिसने बल्लेबाजों का काम आसान कर दिया। पहले बल्लेबाजी में मध्य के ओवर में रन बनना मुश्किल हो रहा था, लेकिन दूसरी बल्लेबाजी में मध्य के ओवर में ओस की वजह से रन बनाना आसान हो गया। ये भी जीत-हार का बहुत बड़ा फैक्टर रहा है।”