विश्व इस समय कोरोना वायरस से जूझ रहा है. जहाँ पर क्रिकेट भी बंद चल रहा है. इसी बीच भारत और चाइना के बीच रिश्ते ख़राब होते जा रहे हैं. बात जंग की चल रही है. आईपीएल 2020 पर इस रिश्ते का बड़ा फर्क पड़ सकता है. जिसके कारण अब बीसीसीआई बहुत बड़े मुश्किल में पड़ती हुई नजर आ रही है.

आईपीएल 2020 पर भारत और चाइना के रिश्ते का हो सकता है असर

आईपीएल 2020

भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते हुए प्रभाव को देखकर वैसे ही आईपीएल 2020 पर बड़ा संकट मंडरा रहा है. लेकिन उसके साथ ही अब मुश्किले और ज्यादा बढ़ गयी है. बॉर्डर पर भारत और चाइना के बीच ख़राब हो रहे रिश्ते का असर भी आईपीएल पर पड़ सकता है. दरअसल आईपीएल का टाइटल स्पांसर विवो हैं.

जोकि एक चाइना की कंपनी है. भारत में उसके खिलाफ अब विरोध प्रदर्शन हो रहा है. अब उसी के कारण विवो का विरोध भी हो सकता है. ऐसे में फैन्स आईपीएल को लेकर भी अपना गुस्सा दिखा सकते हैं. ऐसा होने पर बीसीसीआई को बड़ा झटका लगेगा. विवो ने आईपीएल की स्पांसरशिप पाने के लिए 5 साल में 2199 करोड़ का करार किया है.

विवो का विरोध यानी आईपीएल 2020 को झटका

फ़िलहाल बीसीसीआई किसी भी परिस्थिति में आईपीएल 2020 को कराने को लेकर उत्सुक है. जिसका कारण है ही विवो को लेकर अचानक ही भारतीयों के इरादे बदल गये हैं. अब चाइना के हर सामान का विरोध किया जा रहा है. जिसके कारण ही विवो के चक्कर में फैन्स आईपीएल का भी बहिष्कार कर सकते हैं.

ऐसे में बीसीसीआई के साथ और कई स्टाकहोल्डर को भी नुकसान का सामना करना पड़ सकता है. इससे आईपीएल के ब्रांड वैल्यू गिरने का खतरा भी नजर आ सकता है. अब बीसीसीआई को ये सब ध्यान में रखकर ही फैसला लेना होगा. जिससे फैन्स को आकर्षित किया जा सके.

बीसीसीआई आईपीएल 2020 के तैयारी में जुटी

बीसीसीआई

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के हालिया बयानों पर नजर डाले तो एक बात साफ़ नजर आ रही है की टी20 विश्व कप अब टल सकता है. जिससे आईपीएल 2020 को आयोजित करने के लिए बीसीसीआई को एक विंडो मिल सकती है. हाल में ही बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने भी कहा था की हम आईपीएल को लेकर सभी संभव प्रयास कर रहे हैं.