महेंद्र सिंह धोनी

आईपीएल 2020 का आगाज हो चुका है। मुंबई इंडियंस व चेन्नई सुपर किंग्स के बीच खेले गए पहले मैच में रोहित की टीम को हराकर महेंद्र सिंह धोनी ने 5  विकेट से विजयी शुरुआत के साथ टूर्नामेंट में एंट्री की है। फाफ डु प्लेसिस व अंबाती रायडू की जबरदस्त पारियों की बिनाह पर सीएसके ने आसानी से टार्गेट को चेज कर लिया। लेकिन इस जीत के बाद भी महेंद्र सिंह धोनी नाखुश नजर आए और उनका मानना है कि कई विभागों में सुधार की जरुरत है।

कुछ विभागों में सुधार की जरुरत

धोनी

मुंबई इंडियंस के साथ खेले गए टूर्नामेंट के पहले मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स ने टॉस जीता और पहले फील्डिंग का फैसला किया। जहां, चेन्नई की बल्लेबाजी व गेंदबाजी दोनों ही इकाईयों ने शानदार प्रदर्शन किया और अंतत: चेन्नई की टीम ने 5 विकेट से शानदार जीत दर्ज की। इस शानदार जीत के बाद भी कप्तान महेंद्र सिंह धोनी कुछ खास खुश नजर नहीं आए। मैच खत्म होने के बाद उन्होंने कहा,

‘काफी सकारात्मक पक्ष रहे लेकिन कुछ ऐसे विभाग हैं जिन पर काम करने की जरूरत है। खासकर टाइमिंग को लेकर। बाद में खेलते हुए ओस पड़ने तक थोड़ा मूवमेंट रहता था। ऐसे में अगर आपके पास विकेट बचे हों तो आप फायदे में रहते हो।’

‘हमारे गेंदबाजों को लय हासिल करने में समय लगा। रायुडु ने फाफ के साथ बेहतरीन साझेदारी निभायी। हमारे अधिकतर खिलाड़ी संन्यास ले चुके हैं इसलिए अच्छी बात यह है कि हमारा कोई खिलाड़ी चोटिल नहीं है।’

मैदान पर उतरकर खेलना होता है अलग

कोरोना वायरस के चलते लंबे वक्त से भारतीय क्रिकेटर्स ने कोई भी मैच नहीं खेला है। बल्कि लगभग 2 महीने तक लॉकडाउन में रहने के बाद भी उन्होंने कुछ खास प्रैक्टिस नहीं की। चेन्नई की टीम पर गौर करें, तो टीम में अधिक अनुभवी खिलाड़ी हैं, जिन्होंने लंबे वक्त यानी लगभग साल भर से कोई क्रिकेट नहीं खेला था।

हालांकि सीएसके ने पहले चेन्नई में ट्रेनिंग कैंप लगाया और फिर यूएई पहुंचने के बाद देरी से प्रैक्टिस के लिए मैदान पर उतरी। लेकिन मैच खत्म होने के बाद कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का मानना है कि प्रैक्टिस में और मैदान पर उतरकर खेलने में काफी अंतर होता है। धोनी ने कहा,

‘आपने बहुत अभ्यास किया हो लेकिन मैदान पर उतरकर खेलना भिन्न होता है। वहां आपको परिस्थितियों का आकलन करके अपना सर्वश्रेष्ठ देना होता है।’

चेन्नई ने 5 विकेट से जीता मैच

धोनी

क्रिकेट के महात्यौहार आईपीएल का बिगुल बज चुका है। पहले मैच में चेन्नई सुपर किंग्स ने टॉस जीतकर पहले फील्डिंग का फैसला किया। परिणामस्वरूप पहले बल्लेबाजी करने उतरी मुंबई की टीम का कोई भी बल्लेबाज सीएसके के गेंदबाजों के सामने टिक नहीं सका और मुंबई ने 9 विकेट के नुकसान पर 163 का लक्ष्य दिया। जवाब में चेन्नई की तरफ से अंबाती रायडु 71 व फाफ डु प्लेसिस ने 58 रनों की धमाकेदार पारी खेलते हुए टीम को 5 विकेट से जीत दिलाई।