चेन्नई सुपर किंग्स की टीम ने आईपीएल-2020 के शुरूआती मैच में जिस तरह अपनी पहली जीत का स्वाद चखा था. उसके बिलकुल विपरीत उन्हें आईपीएल के चौथे मुकाबले में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था. जिसके बाद चेन्नई सुपर किंग्स के हेड कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने गुरूवार को चेन्नई के कप्तान धोनी के बारे में बताया कि जैसे-जैसे आईपीएल बड़ता जाएगा उसी प्रकार एमएस धोनी के खेल में भी सुधार देखने को मिलेगा.

स्टीफन फ्लेमिंग ने क्यों कहा की धोनी में अभी है खेल की कमी

आईपीएल-2020 के चौथे मुकाबले में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ मैच हारने के बाद चेन्नई सुपर किंग्स टीम के हेड कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने कहा कि

“एमएस एक ऐसे खिलाड़ी है जिन्होंने बीते कुछ सालो में सबसे ज्यादा क्रिकेट खेला है. जिसके चलते एमएस एक प्रशंसक चाहते है की वो आईपीएल में एक बार फिर से अपने पुराने रूप को दरसाए. जिस तरह से वो कभी बड़े-बड़े शॉट खेलने के लिए पहचाने जाते थे. उन्हें अभी इस फॉर्म में देखने के लिए थोड़ा समय लगेगा जैसे-जैसे आईपीएल बड़ता जाएगा उसी प्रकार एमएस के खेल में सुधार भी आता जाएगा”.

उन्होंने कहा कि

“आने वाले मुकाबले में दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ एमएस अपनी गति और टाइमिंग पर भी काम कर रहे हैं. राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ मैच हारना और मुंबई इंडियंस के खिलाफ काफी गेंदों को खेलने पर भी एमएस धोनी काम कर रहे हैं”. 

भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी गौतम गंभीर ने कहा कि

“महेंद्र सिंह धोनी को नम्बर-7 पर ना खेल कर ऊपर आकर खेलना चाहिए,जिससे उन्हें मैच में पकड़ बनाने में मदद मिलेगी”.

सीएसके की टीम में है एक से बड़कर एक खिलाड़ी

फ्लेमिंग ने कहा कि

“जैसे टूर्नामेंट आगे बड़ता जाएगा एमएस का खेल भी अच्छा होता जाएगा. राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ एमएस जब बल्लेबाजी करने आये थे तब चेन्नई को 30 गेंदों पर 70 रन बनाने थे. जो किसी भी टीम के लिए मुश्किल होगा. लेकिन हमारे पास और भी खिलाड़ी है जो अच्छे फॉर्म हैं”. 

“ये बहुत महत्वपूर्ण है जब महेंद्र सिंह धोनी जैसे खिलाड़ी फॉर्म में ना चल रहे हो ऐसे में कौन सा खिलाड़ी इस जिम्मेदारी को उठाता हैं”. 

फ्लेमिंग ने कहा कि

“जब चेन्नई सुपर किंग्स के तेज़ गेंदबाज़ ने मैच का आखिरी ओवर डाला और उनके खिलाफ में राजस्थान रॉयल्स के जोफ्रा आर्चर ने उनकी गेंदबाजी पर चार छक्के लगाकर उनका मनोबल डाउन कर दिया. जिसके बाद उन्होंने जो इस मैच किया था ऐसी गलती उनसे दोबारा ना हो इसके चलते वहा इस पर भी काम कर रहे हैं”.

“हमारे पास डेथ ओवर स्पेसिलिस्ट के रूप में ड्वेन ब्रावो है जिनके पास गेंदबाजी की कला के साथ-साथ अनुभव भी है. ये देखना अच्छा होगा की वहा कितनी जल्दी अपनी चोट से ठीक हो पाते है और उन्हें टीम के लिए अगला मैच खेलने को मिलेगा”.

रायडू ने खेली थी मुंबई के खिलाफ 71 रनों की शानदार पारी

IPL 2018 Best Asian 11 of the tournament, see who's on top

आईपीएल-2020 के शुरूआती मुकाबले में अम्बाती रायडू ने मुंबई इंडियंस के खिलाफ शानदार बल्लेबाजी करते हुए 71 रनों की पारी खेली थी. फ्लेमिंग ने कहा कि

“रायडू के राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ मैच ना खेल पाने की वजह उनके चोटिल हो जाने की वजह बनी. जो उनके लिए अच्छी बात नहीं थी. एक अच्छे फॉर्म में होने के बाद भी इस कदर चोटिल हो जाना किसी भी खिलाड़ी के लिए बहुत दुःख दायक होता हैं”.