आईपीएल 12 का लीग स्टेज खत्म हो चूका है, रविवार को कोलकाता नाइटराइडर्स और मुंबई इंडियंस के बीच आखिरी लीग मुकाबला खेला गया. इस मैच में कोलकाता नाइटराइडर्स की हार के बाद सनराइजर्स हैदराबाद (12 अंकों के साथ) की टीम ने प्लेऑफ़ में क्वालीफाई कर लिया.

इस सीजन आईपीएल के प्लेऑफ़ में जगह बनाने का समीकरण काफी दिलचस्प रहा. कई टीमों के बीच प्लेऑफ़ में जगह बनाने की होड़ दिखी. वही कुछ टीमों को दुर्भाग्य का सामना करना पड़ा, जी हां हम बात रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की कर रहे हैं.

अंपायर की गलती के कारण प्लेऑफ़ से बाहर हुई विराट की सेना 

आईपीएल इस सीजन में सबसे ख़राब प्रदर्शन की बात करें तो उसमें सबसे ऊपर नाम विराट कोहली की टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर का रहा. बैंगलोर को इस सीजन में शुरू के लगातार छः मैचों में हार का सामना करना पड़ा. लेकिन बैंगलोर की टीम ने वापसी करते हुए 5 मैचों में जीत दर्ज किया, इस सीजन में उनका एक मैच भी रद्द हुआ. लेकिन सही मायने में देखा जाये तो बैंगलोर के खिलाफ सबसे बड़ा नुकसान अंपायर के हाथों मुंबई इंडियंस के खिलाफ मैच में हुआ. इस मैच में बैंगलोर को हार मिली अगर ये मैच बैंगलोर हार गयी.

28 मार्च को बेंगुलरू के एम चिन्‍नास्‍वामी स्‍टेडियम में बैंगलोर और मुंबई का मुकाबला हुआ था. मुंबई ने पहले बल्‍लेबाजी करते हुए 187/8 का स्‍कोर बनाया और जवाब में आरसीबी ने एबी डीविलियर्स के नाबाद 70 रन के सहारे 181/5 का स्‍कोर बनाकर मैच छह रन से हार गयी थी.

अंपायर ने नहीं दिया नो बॉल 

मुंबई इंडियंस के खिलाफ बैंगलोर को आखरी ओवर में जीत के लिए 17 रनों की आवश्यकता थी.एबी डीविलियर्स और शिवम दूबे क्रीज पर थे तो मुंबई की तरफ से लसिथ मलिंगा ओवर लेकर आए थे. अंतिम गेंद पर आरसीबी को जीत के लिए सात रन चाहिए थे. मलिंगा ने आखिरी गेंद फेंकी, जिस पर शिवम दुबे ने लॉन्ग ऑन पर शॉट खेला, लेकिन कोई भी बल्लेबाज रन के लिए नहीं दौड़ा और मुंबई मैच जीत गई. इसके बाद जो हुआ वो हैरान करने वाला था.

इस मैच की आखिरी गेंद जिस पर बैंगलोर को जीत 7 चाहिए थे वह गेंद नो बॉल थी. जिस पर अंपायर एस.रवि की नजर नहीं पड़ी. जिसके बाद कप्तान विराट काफी नाराज दिखे. साफ है कि अगर ये नो बॉल दे दी गई होती तो बैंगलोर इस मैच में जीत सकती थी और उसके 14 मैचों में 11 की जगह 13 प्‍वाइंट होते और वह प्‍लेऑफ की टॉप चार टीमों में शामिल होती, लेकिन ऐसा हो ना सका.

विराट कोहली काफी नाराज दिखे 

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो गुस्साए विराट पोस्ट मैच प्रेजेंटेशन में अपना गुस्सा जाहिर करने के बाद भी शांत नहीं हुए. मैच के बाद विराट कोहली ने कहा कि, “अंपायर को अपनी आँखे खुली रखनी चाहिए.”

प्रेजेंटेशन के बाद अंपायर के कमरे में जाकर भी उन्होंने अपनी भड़ास निकाली, जबकि रोहित शर्मा ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि ऐसा चलता रहता है.

आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया हो तो प्लीज इसे लाइक करें। अपने दोस्तों तक इस खबर को सबसे पहले पहुंचाने के लिए शेयर करें। साथ ही कोई सुझाव देना चाहे तो प्लीज कमेंट करें। अगर आपने हमारा पेज अब तक लाइक नहीं किया हो तो कृपया इसे जल्दी लाइक करें, जिससे लेटेस्ट अपडेट आप तक पहुंचा सके।