चोट की वजह से रबाडा का न खेल पाना दिल्ली डेयर डेविल्स के लिए बुरे हादसे जैसा है। दिल्ली डेयर डेविल्स को इस मुश्किल घड़ी से उबारने के लिए कुछ चुनिंदा गेदबाज ही काम आ सकते हैं। रबाडा को दिल्ली डेयर डेविल्स ने 4.2 करोड़ रुपये में खरीदा था। पीठ की मांस-पेशियों में खिंचाव की वजह से रबाडा अब आइपीएल से बाहर हैं। जोहांसबर्ग में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलते हुए अंतिम टेस्ट मैच में रबाडा के पीठ में दर्द उभरा था। रबाडा के साथ इस समस्या के बाद उन्हें तीन माह तक क्रिकेट न खेलने की हिदायत दी गई है। रबाडा की गैर मौजूदगी में अब दिल्ली डेयर डेविल्स की गेंदबाजी की अतिरिक्त जिम्मेदारी इन गेंदबाजों पर हो सकती है, जिन्हें टीम में जगह मिल सकती है।

मोर्ने मोर्केल

रबाडा की कमी दक्षिण अफ्रीका के ही तेज गेंदबाज मोर्ने मोर्केल पूरी कर सकते हैं। मोर्ने मोर्केल डेयर डेविल्स के लिए साल 2012 में खेल चुके हैं। तब शानदार गेंदबाजी के लिए उन्हें पर्पल कैप भी मिली थी। माना जा रहा है कि रबाडा की जगह उन्हें टीम में शामिल किया जा सकता है। इसकी एक वजह गौतम गंभीर को भी माना जा रहा है। केकेआर का कप्तान रहते हुए गौतम गंभीर ने मोर्ने मोर्केल की गेंदबाजी को नजदीक से देखा है। गंभीर की सहमती के साथ मोर्ने मोर्केल डेयर डेविल्स का रुख कर सकते हैं।

जेसन होल्डर

वेस्टइंडीज टीम की कमान संभाल रहे कप्तान जेसन होल्डर रबाडा की कमी पूरी कर सकते हैं। इससे पहले जेसन होल्डर सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेल चुके हैं। उनकी धारदार गेंदबाजी का सामना करते हुए कई दिग्गज खिलाड़ियों ने अपना विकेट गंवाया है। वे लंबे समय से वेस्टइंडीड के लिए उम्दा प्रदर्शन करते आ रहे हैं। होल्डर की बल्लेबाजी पर भी अच्छी पकड़ है। ऐसे में वे रबाडा की जगह ले सकते हैं।

डेविड विली

 

दिल्ली डेयर डेविल्स के लिए डेविड विली भी रबाडा की जगह बेहतर ऑप्शन साबित हो सकते हैं। इस सीजन के लिए आईपीएल नीलामी में किसी भी टीम ने विली पर बोली नहीं लगाई थी। नीलामी के वक्त विली का किसी भी टीम में न चुना जाना सभी को आश्चर्य में डाल दिया था। विली एक बेहतर आलराउंडर हैं। रबाडा के जाने के बाद विली के डेयर डेविल्स का दामन थामने की चर्चा जोरों पर है।

टाइमल मिल्स

इंग्‍लैंड के बाएं हाथ के तेज गेंदबाज टाइमल मिल्‍स को भी रबाडा के रिप्लेसमेंट के तौर पर देखा जा रहा है। पिछले साल मिल्स आरसीबी के लिए खेले थे। आइपीएल का पिछला सीजन उनके लिए ठीक नहीं था। उनकी गेंदबाजी टीम को मदद नहीं दे सकी थी। लेकिन अब वे शानदार प्रदर्शन करते आ रहे हैं। पाकिस्तान सुपर लीग और बिग बैश लीग में उनकी गेंदबाजी ने कई विकेट उखाड़े हैं। उनके अभी के फॉर्म को देखते हुए डेयर डेविल्स उन्हें रबाडा की जगह टीम का हिस्सा बना सकती है।

जेम्स फॉकनर

ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज और बेहतरीन जेम्स फॉकनर भी रबाडा की जगह दिल्ली डेयर डेविल्सा का हिस्सा बन सकते हैं। वे आइपीएल के पिछले सीजन्स में गुजरात लायंस, किंग्स इलेवन पंजाब, राजस्थान रॉयल्स जैसी टीमों को अपना योगदान दे चुके हैं। इस बार की आइपीएल नीलामी में किसी भी टीम ने फॉकनर के नाम पर बोली नहीं लगाई थी। रबाडा के जाने के बाद हो सकता है उन्हें दिल्ली डेयर डेविल्स के लिए खेलने का मौका मिल जाए।