धोनी

जब क्रिकेट के जानकार कयास लगाने लगे थे कि टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को अब क्रिकेट से संन्यास ले लेना चाहिए. अब उनके अन्दर वो बात नहीं रही. टीम में युवा खिलाड़ियों को मौका मिलना चाहिए. धोनी को लेकर तेज़ी से नकारात्मक ख़बरें फैलाई जा रही थी. हालांकि धोनी खुद को लेकर आश्वस्त थे.

उन्होंने पहले भी कहा था कि जब उन्हें यह बात महसूस होगी कि अब मुझे क्रिकेट से दूरी बना लेनी चाहिए तो बना लूँगा. अभी मेरे अन्दर क्रिकेट बाकी है. इस बात को साबित करने में धोनी ने ज्यादा समय भी नहीं लिया. इस आईपीएल सीजन धोनी ने अपने बल्ले से आलोचकों के मुंह पर वो करारा तमाचा जड़ा कि आज ऐसे लोग मुंह छिपाए फिर रहे हैं.
भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कोच गैरी ने कर्स्टन ने महेंद्र सिंह धौनी की जमकर तारीफ की है. धोनी की तारीफ़  करते हुए उन्होंने कहा कि, “मैं धोनी का मौजूदा रूप देख बिल्कुल आश्चर्यचकित नहीं हूं क्योंकि वह मैदान पर अद्भुत चीजें कर सकता है.” उन्होंने आगे कहा कि “एक नेतृत्वकर्ता के रूप में महेन्द्र सिंह धौनी सबसे बढ़िया जीता-जागता उदाहरण हैं. अत्यधिक दबाव में भी वो अपने खेल को निखारना जानते हैं. माही न सिर्फ खुद दबाव को हराते हैं बल्कि वो बल्कि टीम को भी उससे उबारते हैं. क्रिकेट की दुनिया में धोनी को उनकी इसी काबिलियत के लिए जाना जाता है यह बात हर क्रिकेट प्रेमी को पता होगी.”
बता दें, धोनी ने अब तक आईपीएल 11 में अब तक दस मैचों में 90 के औसत और लगभग 166 के स्‍ट्राइक रेट से 360 रन बनाए हैं, जिसमें 19 चौके और 27 छक्‍के शामिल हैं. रन बनाने के मामले में धोनी इस समय 7वें नंबर पर हैं, लेकिन औसत के मामले में धोनी पहले नंबर पर है. इस आईपीएल सीजन धोनी ने 90.00 की शानदार औसत के साथ रन बनाए हैं.

Anurag Singh

लिखने, पढ़ने, सिखने का कीड़ा. Journalist, Writer, Blogger,

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *