Team India

भारतीय क्रिकेट टीम (Team India) एक के बाद एक ऊंचाईयों को छू रही है। हाल ही में उसने एक बार फिर आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में अपना पहला स्थान हासिल किया। तो अब वहीं टीम इंडिया को आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप में न्यूजीलैंड से भिड़ना है। जब भारतीय टीम इंग्लैंड दौरे पर होगी, तब भारत की ही बी टीम श्रीलंका का दौरा करेगी। इसको लेकर पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी इंजमाम उल हक ने भारतीय क्रिकेट की तारीफ की है।

भारत के पास दो देशों में टीम भेजने की काबिलियत

team india

कोरोना वायरस के चलते IPL 2021 को स्थगित कर दिया गया। जिसके बाद अब भारत की अनुभवी खिलाड़ियों से सजी टीम जून में इंग्लैंड के लिए रवाना होगी। तो वहीं युवा खिलाड़ियों से सजी टीम को जुलाई में श्रीलंका का 3 टी20आई व 3 वनडे मैचों के लिए दौरा करना है। अब इंजमाम उल हक ने भारतीय क्रिकेट की अपने यूट्यूब चैनल पर तारीफ की है। उन्होंने कहा,

“भारत के पास एक ही समय दो देशों में दो राष्‍ट्रीय टीमों को उतारने की काबिलियत है। भारत के खिलाड़ियों का बहुत बड़ा पूल है और उसे अच्‍छी तरह संभाला जा रहा है।”

भारत की बेंच स्ट्रेंथ है मजबूत

पिछले कुछ महीनों में भारतीय क्रिकेट टीम (Team India) की बेंच स्ट्रेंथ ने साबित किया है कि वह मौका मिलने पर टीम के लिए मैच विनिंग प्रदर्शन करने की उम्मीद है। इंजमाम का कहना है कि भारत की जो टीम श्रीलंका जाने वाली है, वह भी मुख्य टीम की तरह मजबूत होगी। उन्होंने आगे कहा,

“भारत ने कम से कम 50 ऐसे क्रिकेटर तैयार कर लिए हैं जो उसकी राष्‍ट्रीय टीम में खेलने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। जो काम अपने प्रदर्शन के चरम पर रहने के दौरान ऑस्‍ट्रेलियाई क्रिकेट टीम भी नहीं कर सकी वो काम भारतीय टीम ने कर दिखाया है। अगर आप उन खिलाड़ियों पर नजर डालें जो श्रीलंका जाने की कतार में हैं तो आपको उन्‍हें देखकर ऐसा ही लगेगा जैसे कि यही भारत की मुख्‍य क्रिकेट टीम है। इसी से टीम इंडिया की बैंच स्‍ट्रेंथ का पता चलता है।”

घरेलू क्रिकेट व आईपीएल को दिया श्रेय

team india

इंजमाम उल हक ने भारतीय क्रिकेट की बेंच स्ट्रेंथ को मजबूत करने के लिए घरेलू क्रिकेट को श्रेय दिया। उनका मानना है कि घरेलू क्रिकेट व आईपीएल के जरिए भारत की बेंच स्ट्रेंथ इतनी मजबूत हो सकी है कि वह दो टीमें एक साथ तैयार कर सकते हैं। बता दें, भारत ने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जब Team India के ज्यादातर अनुभवी खिलाड़ी चोटिल थे, तब युवाओं को मौका मिला और वाकई युवा खिलाड़ियों ने हैरतअंगेज प्रदर्शन करके बॉर्डर-गावस्कर सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को उसके घर पर उनकी ए टीम को मात दी।