Prev1 of 9
Use your ← → (arrow) keys to browse

इंग्लैंड में जन्मे क्रिकेट के खेल को जेंटलमैन खेल के नाम से जाना जाता है, कई ऐसे मौके भी आए हैं, जब कई खिलाड़ियों ने मैदान और मैदान के बाहर इस बात को सिद्ध किया है, मैदान पर उनकी जबरदस्त ऊर्जा और खेल भावना ने नई पीढ़ियों के लिए पहले से ही कई उदाहरण पेश किए हैं. ताकि वो भी वही करे जो क्रिकेट में उनके पूर्वज करते हुए आए हैं.

अब तक क्रिकेट अपना लम्बा सफ़र तय कर चुका है, अभी की क्रिकेट पीढ़ी अधिक आक्रमक है. वह अपने दिल से ज्यादा अपने बाजुओं पर भरोसा करते हैं, और अक्सर वह इतने आक्रमक हो जाते हैं, कि वह अनुशासन की रेखा को भूल जाते हैं. विराट कोहली, डेविड वार्नर और ब्रेट ली ऐसे खिलाड़ियों में शुमार हैं.

लेकिन कई क्रिकेटर ऐसे हैं जिन्होंने अपने दिमाग पर नियंत्रण किया था, जैसे एमएस धोनी, केन विलियमसन और जो रूट इस बात के उदाहरण हैं कि किसी खिलाड़ी को क्रिकेट के मैदान पर खुद को कैसे प्रस्तुत करना चाहिए. हालांकि, ऐसे उदाहरण सामने आए हैं जब शांत क्रिकेटरों ने भी अपने शांत स्वभाव को खो दिया है.

यूनिस खान के साथ कुमार संगकारा की लड़ाई

कुमार संगकारा को यूनिस खान के साथ बहस करते हुए देखा गया था जब पाकिस्तान के कप्तान ने अंपायर गामिनी सिल्वा द्वारा 70 रन पर आउट दिया था. रिप्ले में दिखाया गया कि पाकिस्तान के बल्लेबाज आउट नहीं है बल्कि दम्मिका प्रसाद ने उनको आउट दिया था.

कुछ क्षणों के लिए संगकारा ने यूनिस के साथ एक लंबी बातचीत की, जिसमे शुरू में युनिस ने इसको हसी में उड़ा दिया, लेकिन जब यह बात आगे बढ़ गयी तो उन्होंने अंपायर से शिकायत की.

श्रीलंका के पूर्व कप्तान आम तौर पर सबसे शांत खिलाड़ियों में से एक हैं जो कभी क्रिकेट के मैदान में लड़ते नही दिखाई दिए थे. यह पहली बार की ही घटना थी जब विकेटकीपर बल्लेबाज ने अपना आपा खो दिया था.

Prev1 of 9
Use your ← → (arrow) keys to browse

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *