किसी खिलाड़ी के लिए एक बार विश्व कप जीतना बहुत बड़ी बात होती है लेकिन यदि कोई खिलाड़ी अपने करियर में तीन बार अलग-अलग विश्व कप अपने टीम को जीता दे तो उससे बड़ा खिलाड़ी कोई नहीं होगा. ऐसा कारनामा भारतीय टीम के सुपरस्टार खिलाड़ी ने किया है. जी हाँ भारतीय टीम के पूर्व आलराउंडर खिलाड़ी युवराज सिंह ने भारत को 3 बार विश्व कप जिताया है.

2000 अंडर19 विश्व कप 

ये युवराज सिंह का पहला बड़ा विश्व कप था. भारतीय टीम की कप्तानी इस टूनामेंट में मोहम्मद कैफ कर रहे थे. युवराज सिंह ने अपने आलराउंड प्रदर्शन से इस टूनामेंट में तहलका मचा दिया था. एक बल्लेबाज के रूप में युवराज सिंह ने इस टूनामेंट में 8 मैच खेले. जिसमें 33 के औसत से 203 रन बनाये थे.

जिसमें आक्रामक अंदाज में दो अर्द्धशतक भी बनाया था. गेंद से इस खिलाड़ी ने 11.50 के औसत से 12 विकेट चटकाए थे. इसके साथ फील्डिंग में भी युवराज सिंह ने कमाल किया था. जिसके कारण भारतीय टीम इस टूनामेंट को जीत गयी थी. युवराज सिंह मैन ऑफ़ द टूनामेंट बने थे.

2007 टी20 विश्व कप 

पहले टी20 विश्व कप में भी भारतीय टीम चैंपियन बनी थी. जिसका एक कारण युवराज सिंह भी थे. इस टूनामेंट में युवराज सिंह ने बहुत ही शानदार प्रदर्शन किया था. युवराज सिंह ने इस टूनामेंट में भी आलराउंड प्रदर्शन किया था. बल्ले से युवराज सिंह ने 5 मैच में 29.60 के औसत से 148 रन बनाया था.

गेंद से बात करें तो युवराज सिंह ने 1 विकेट हासिल किया था. फील्डिंग में भी युवराज सिंह ने कमाल किया था. सेमीफाइनल में उनकी 70 रनों की पारी और इंग्लैंड के खिलाफ 6 गेंद में 6 छक्के लगाए थे. जिसको कोई भी भारतीय क्रिकेट फैन भूल नहीं सकता है.

2011 विश्व कप 

भारत में खेले जा रहे इस विश्व कप में युवराज सिंह ने बहुत ही शानदार प्रदर्शन किया था. युवराज सिंह ने इस टूनामेंट में बल्ले और गेंद दोनों से बहुत अच्छा किया था. ये विश्व कप भारतीय टीम जीती थी जिसका बड़ा कारण युवराज सिंह ही थे.

बल्ले के साथ युवराज सिंह ने 9 मैच में 90.50 के औसत से 362 रन बनाये थे. जिसमें 1 शतक और 4 अर्द्धशतक शामिल थे. गेंदबाजी की बात करें तो इस खिलाड़ी ने 25.13 के औसत से 15 विकेट हासिल किये थे. इस बीच इस खिलाड़ी का इकॉनमी रेट 5.02 का रहा था.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *