Indian Women Cricket Team 1

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारतीय महिला क्रिकेट टीम (Indian Women Cricket Team) और ऑस्ट्रेलिया के बीच फाइनल मुकाबला खेला गया. इस मुकाबले में टीम इंडिया को 9 रनों से हार का सामना करना पड़ा. कॉमनवेल्थ गेम्स में नॉकआउट मुकाबलों में हार के चलते भारतीय महिला टीम को चोकर्स कहा जा रहा है, क्योंकि महिला क्रिकेट टीम कई वर्ल्ड कप और T20I वर्ल्ड कप में सेमीफइनल और फाइनल तक पहुंच चुकी है. यहां पहुंचने के बाद टीम इंडिया को हार का सामना करना पड़ता है. ऐसा ही कुछ नजारा कॉमनवेल्थ गेम्स में खेले गए फाइनल मुकाबले में देखने को मिला.

Indian Women Cricket Team को चोकर्स क्यों कहा जाता है?

Indian Women Cricket Team
Indian Women Cricket Team

भारतीय महिला क्रिकेट टीम के खिलाड़ी शानदार प्रदर्शन करने के लिए जाने जाते हैं. जिन्होंने कई बार अपने बेहतरीन खेल के चलते कई वर्ल्ड कप और T20I वर्ल्ड कप में सेमीफइनल और फाइनल में जगह बनाई है, लेकिन ना जाने नाकआउट मुकाबलों टीम के खिलाड़ियों के प्रदर्शन को क्या हो जाता है और विपक्षी टीम के सामने सरेंडर कर देते हैं. ऐसा एक बार नहीं कई बार देखने को मिला है. इसीलिए महिला क्रिकेट टीम को चोकर्स कहा जाता है.

वर्ल्ड कप में कुछ ऐसा रहा है प्रदर्शन

Smriti Mandhana-Shafali Verma-CWG 2022

भारतीय महिला क्रिकेट टीम (Indian Women Cricket Team) वर्ल्डकप के प्रदर्शन पर नजर डाले तो उनका रिकॉर्ड चोकर्स कहा जाने लायक ही रहा है, क्योंकि साल 2017 के बाद के रिकॉर्ड पर नजर डाले तो काफी चौंकाने वाला रहा है. साल 2017 वर्ल्ड कप में रनर अप और 2022 में न्यूजीलैंड में हुए वर्ल्ड कप में ग्रुप स्टेज में ही बाहर होना पड़ा था.

T20I वर्ल्ड कप में 2018 में सेमीफाइनलिस्ट और 2020 में रनर पोजीशन पर भारतीय महिला क्रिकेट टीम की पोजीशन रही थी. वहीं अब कॉमनवेल्थ गेम्स में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फाइनल मुकबले मिली हार से अब एक और रनर अप पोजीशन भारतीय महिला टीम के खाते में जुड़ गई है.

ऑस्ट्रेलिया हमेशा टीम इंडिया पड़ी भारी

CWG 2022 Final - INDW vs AUSW

जब-जब भारतीय महिला क्रिकेट टीम और ऑस्ट्रेलिया के मैच खेले जाते हैं, तो उन मैचों में ऑस्ट्रेलियाई टीम का पलड़ा भरी रहा है. भारतीय अच्छा खेलेते हुए भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सरेंडर कर जाती है. इसका ताजा उदाहराण कॉमनवेल्थ गेम्स के फाइनल मुकाबले में देखने को मिला.

इस मैच में ऐसा लग रहा था कि टीम इंडिया गोल्ड जीतने के साफी करीब है, लेकिन कप्तान हरमनप्रीत के आउट हो जाने के बाद विकटों की झड़ी लग गई और मैच हाथ से फिसल गया. एक तरीके से कह सकते हैं कि भारतीय बल्लेबाजों ने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजी के सामने सरेंडर कर दिया.

ऑस्ट्रेलिया से मिलने वाली चुनौती का विकल्प खोजना होगा. अब तक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारतीय महिला टीम का रिकॉर्ड भी ठीक नहीं रहा है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 50 वनडे मैच में भारतीय महिला टीम केवल 10 मैच ही जीत सकी है. वहीं T20I मुकाबलों में 23 में से  केवल 6 मैच ही भारतीय महिला टीम अपने नाम कर पाई है.