dm 171126 CRIC IND v SL 2nd Test Day 3 Pujara PC

भारतीय टीम के टेस्ट स्पेशलिस्ट चेतेश्वर पुजारा ने अभी तक भारतीय टीम के लिए काफी इंटरनेशनल मैच खेले हैं. वही चेतेश्वर पुजारा ने शुक्रवार को इंटरनेशनल क्रिकेट में 10 साल पूरे कर लिए है. उन्हें टेस्ट क्रिकेट में नंबर-3 के स्थान पर देखा जाता है. अपनी बल्लेबाज़ी के लिए पहचाने जाने वाले पुजारा ने अपने फैंस का धन्यवाद करते हुए ये कहा की.

पुजारा ने खेले कुल इतने मुकाबले

Indian-cricketers-and-there-salaries-in-2018

चेतेश्वर पुजारा ने इंटरनेशनल टेस्ट में डेब्यू ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ किया था जिसमे उन्होंने फर्स्ट इनिंग में 72 रन की पारी खेली थीं. 32 साल के पुजारा ने साल 2018-19 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 500 रन बनाकर टीम इंडिया को 71 साल बाद पहली टेस्ट सीरिज 2-1 से जितवाई थी.

भारतीय टीम के लिए काफी लंबे समय से इंटरनेशनल मैच खेलते आ रहे चेतेश्वर पुजारा ने टीम इंडिया के लिए अभी तक कुल 77 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 46.19 के स्ट्राइक रेट से 5840 रन बनाए हैं. वही उन्होंने ने वनडे में कुल 5 मैच खेले हैं.

जिसमें उन्होंने ने 39.23 के स्ट्राइक रेट से मात्र 51 बनाए हैं. उन्हें टेस्ट फॉर्मेट का सबसे बड़ा खिलाड़ी माना जाता है. टेस्ट में किसी और खिलाड़ी के बल्ले से रन निकले या फिर ना निकले. लेकिन पुजारा एक मात्र ऐसे बल्लेबाज है जिसके बल्ले से रन निकलते ही है.

पुजारा ने अपने फैंस को कुछ इस तरह किया धन्यबाद

Cheteshwar Pujara

चेतेश्वर पुजारा ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखते हुए कहा कि

“मुझे बहुत ख़ुशी हो रही है कि मैंने टीम इंडिया के लिए खेलते हुए 10 साल पूरे किए. राजकोट से शुरुआत करने से लेकर और अपने पिता के सामने खेलते-खेलते आज मैं यहां तक पहुंचा हूँ. इसकी मैंने कभी कल्पना भी नहीं की थी. 10 साल तक मेरा साथ देने के लिए मेरे सभी फैंस का धन्यबाद . साथ ही मैं आगे भी इसी तरह टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन करता रहूँगा.”

मैं ये दिन कभी नहीं भूलूंगा

825867408

टीम इंडिया के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट में 10 साल पूरे करने के साथ-साथ चेतेश्वर पुजारा ने एक और बात के बारे में बताते हुए कहा कि

“ये दिन मैं इसलिए और याद रखूगा क्योंकि इत्तिफाक से आज के दिन ही मेरी पत्नी का जन्मदिन भी है. मैं ये दिन कभी नहीं भूल सकता.”

अपनी टीम को टेस्ट फॉर्मेट में एक नए मुकाम पर ले जाने वाले चेतेश्वर पुजारा ने टेस्ट फॉर्मेट में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है. अभी तक उनके बल्ले से कुल 18 शतक निकले. जो उन्हें सारे खिलाड़ी से अलग बनाता है. इनके पास मैदान के चारों तरफ रन मारने की कला भरपूर्ण है.