Capture 51
Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही चार मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा मुकाबला अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में खेला जा रहा है। इस मैच में इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया।

इस मैच में कप्तान विराट कोहली टीम इंडिया में दो बदलाव के साथ मैदान पर उतरे। पहला बदलाव था कि टीम में जसप्रीत बुमराह की वापसी हुई और दूसरा बदलाव कुलदीप यादव की जगह वॉशिंगटन सुंदर को प्लेइंग इलेवन में शामिल करना था।

भारत की प्लेइंग इलेवन देखकर फैंस व दिग्गज खिलाड़ी भी हैरान रह गए। टीम मैनेजमेंट द्वारा लिए गए कुछ फैसले किसी के भी समझ नहीं आए। तो आइए इस आर्टिकल में आपको पिंक बॉल टेस्ट मैच के लिए चुनी गई टीम में उन 3 फैसलों के बारे में बताते हैं, जो आपके, हमारे और सभी के समझ के परे नजर आ रहे हैं।

      पिंक बॉल टेस्ट के 3 फैसले हैं समझ से परे

1- कुलदीप यादव की जगह वॉशिंगटन सुंदर को शामिल करना

टीम इंडिया

भारतीय क्रिकेट टीम के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव को एक लंबे इंतजार के बाद चेन्नई में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में शामिल किया गया था। लेकिन अब एक बार फिर उन्हें बेंच पर बैठा दिया गया है और उनकी जगह प्लेइंग इलेवन में वॉशिंगटन सुंदर को शामिल कर लिया गया है।

कप्तान विराट कोहली ने टॉस के दौरान बताया कि सुंदर टीम की बल्लेबाजी को गहराई देंगे, इसलिए उन्हें प्लेइंग इलेवन में शामिल किया है। लेकिन ये फैसला किसी के भी समझ के परे रहा क्योंकि पहले टेस्ट में सुंदर को खिलाया गया था, जहां उन्होंने नाबाद 85  रन तो बनाए थे, लेकिन दोनों ही पारियों में एक भी विकेट नहीं चटकाए थे। तब कुलदीप यादव को उनकी जगह टीम में शामिल किया था और कारण बताया गया था कि सुंदर विकेट नहीं ले पाए।

लेकिन अब जबकि पिंक बॉल टेस्ट इस सीरीज के लिए बेहद अहम हैं, तो कप्तान कोहली ने सुंदर को प्लेइंग इलेवन में शामिल कर लिया और कुलदीप को बाहर कर दिया। ये फैसला किसी के भी समझ ना आ सका।

Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse