Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

अपने देश के लिए खेलना हर खिलाड़ी का सपना होता है. लेकिन बतौर ऑलराउंडर अपने देश का प्रतिनिधित्व करना बहुत ज्यादा अहम भी हैं. लेकिन ऑलराउंडर खिलाड़ी मैच में गेंद और बल्ले दोनों के साथ शुरुआत करें ऐसा मौका बहुत ही कम देखने को मिलता है.

भारतीय क्रिकेट में उसके बाद भी कुछ ऐसे ऑलराउंडर खिलाड़ी रहे हैं. जिन्होंने गेंद और बल्ले दोनों के साथ टीम के लिए शुरुआत की हुई है. इन खिलाड़ियों ने भारत के लिए क्रिकेट के खेल में बहुत ही अहम योगदान दिया हुआ है. जिसके कारण ही वो चर्चा का केंद्र रह चुके हैं.

आज हम आपको उन 5 भारतीय खिलाड़ियों के बारें में बताने वाले हैं. जिन्होंने एक ही मैच में टीम के लिए गेंद और बल्ले दोनों से ही पारी की शुरुआत की हुई है. इस लिस्ट में शामिल अधिकतर खिलाड़ियों का नाम दिग्गजों में शामिल किया जाता है.

5. इरफ़ान पठान

भारतीय क्रिकेट इतिहास में कपिल देव के बाद ऑलराउडंर्स में सबसे ज्यादा प्रभाव बडौदा के इरफान पठान ने छोड़ा है. इरफान पठान को एक समय तो भारतीय टीम का दूसरा कपिल देव भी कहा जाने लगा था. वैसे इरफान अपने करियर को ज्यादा लंबा नहीं कर सके.

उन्होंने गेंदबाजी के साथ ही बल्ले से भी अच्छा योगदान दिया है. इरफान पठान के करियर में एक ऐसा मौका आया जब उन्हें गेंद और बल्ले दोनों के साथ शुरुआत करने का भी मौका मिला. इरफान पठान को 2005 में कोलकाता में खेले गए वनडे मैच में ओपनिंग करने का मौका दिया जहां वो खाता नहीं खोल सके तो वहीं गेंदबाजी में भी 10 ओवर में कोई विकेट नहीं ले सके.

Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse