quint hindi 2020 03 15fb75a9 a693 496a ae34

आईपीएल-2020 के 13वें सीजन में सभी टीमें अच्छा करने की कोशिश में लगी  हुई हैं. लेकिन इस सीजन में अगर किसी टीम पर गौर किया जा रहा है. तो वो महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स की टीम है और किंग्स इलेवन पंजाब जिसके कप्तान केएल राहुल है. पंजाब की टीम इस सीजन में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद भी मैच को जीतने में नाकाम नज़र आ रही है. जिसके बाद संजय मांजरेकर ने उन्हें आगे अच्छा करने के लिए ये सलाह दी.

संजय मांजरेकर ने राहुल की बल्लेबाजी के लिए क्या कहा?

sanjay manjrekar 5471762 835x547 m

पूर्व भारतीय खिलाड़ी संजय मांजरेकर ने केएल राहुल की बल्लेबाजी की बात करते हुए अपने कॉलम में लिखा कि

“इस टूर्नामेंट की कई सारी बातों में से मेरे लिए एक मुद्दा कप्तान केएल राहुल और कप्तानी का उनकी बल्लेबाजी पर संभावित असर है. पहले बात करते हैं उनकी बल्लेबाजी की. राहुल एक शानदार बल्लेबाज हैं और उन चुनिंदा खिलाड़ियों में भी जो 360 डिग्री का खेल खेलते हैं. इस टूर्नामेंट की बात करे तो उनके लिए साल 2018 काफी अच्छा रहा था. तब हमने उन्हें एक उभरते हुए टी20 प्लेयर के रूप में देखा था. वही स्ट्राइक रेट के मामले में उन्होंने तब टी20 क्रिकेट के महान खिलाड़ियों को कड़ी टक्कर दी. उस सत्र में राहुल ने 158 के स्ट्राइक रेट के साथ 659 रन बनाए थे.”

उस सत्र में राहुल ने नहीं की मेरे हिसाब की बल्लेबाजी

157070

उन्होंने कहा कि

“उस सत्र में केएल राहुल में कुछ बदलाव तो देखे गए थे. लेकिन उन्होंने उतनी आज़ादी से बल्लेबाजी नहीं की थी, जितनी कि उन्होंने पिछले सत्र में की थी. ऐसा लग रहा था कि उन्होंने खुद को रोक कर रखा है. यह उस तरह के बल्लेबाज का स्पष्ट मामला था जो तेज़ी से रन बना सकता है, लेकिन बना नहीं रहा है. जब मैंने उस सत्र में उनके आकड़े देखे तो स्ट्राइक रेट 130 तक गिर गया था. यानी जो बदलाव उनकी बल्लेबाजी में नज़र आ रहा था वो उनके आकड़ों में भी दिखाई देने लगा.”

मुझे नहीं लगता है कि राहुल की कप्तानी जिम्मेदार है

manjarekar 1577778491

संजय मांजरेकर ने केएल राहुल के आईपीएल-2020 के प्रदर्शन को देखते हुए कहा कि

“आईपीएल-2020 में भी उनका स्ट्राइक रेट 130 के करीब का है. वही शारजाह में राजस्थान के खिलाफ वो अपने साथी मयंक अग्रवाल के साथ 127 के स्ट्राइक रेट से अपनी पारी खत्म की थी. जबकि उनके साथी 200 के स्ट्राइक रेट से खेल रहे थे. लेकिन वह मैच किंग्स इलेवन पंजाब को हारना पड़ा. मुझे नहीं लगता है कि राहुल पर कप्तानी की जिम्मेदारी की वजह से उनका प्रदर्शन ख़राब है. पंजाब को इस सीजन में तालिका में आगे बढना है तो उन्हें यहा भी टीम इंडिया वाला रवैया अपनाना होगा. वो भी किसी और की चिंता करते हुए. क्योंकि मौजूदा रवैया न तो उनके काम आ रहा है और न ही उनकी टीम के.”